PHOTOS में देखें नृसिंह जयंती:3 दिवसीय धार्मिक आयोजनों की हुई शुरुआत, नृसिंह के अवतार में सजे भगवान कल्याण

सीकर2 महीने पहले
हिरण्यकश्यप का वध करते हुए भगवान नृसिंह। - Dainik Bhaskar
हिरण्यकश्यप का वध करते हुए भगवान नृसिंह।

सीकर के कल्याण मंदिर में शताब्दी स्थापना दिवस के तहत तीन दिवसीय धार्मिक आयोजनों की शनिवार से शुरुआत हो गई। पहले दिन नृसिंह जयंती के मौके पर मंदिर में अलवर के कलाकारों ने नृसिंह लीला का मंचन किया जिसे देखने के लिए काफी शहरवासी भी मौजूद रहे।

महंत विष्णुप्रसाद शर्मा ने बताया कि मंदिर के शताब्दी स्थापना दिवस के मौके पर तीन दिवसीय कार्यक्रमों का आयोजन किया जा रहा है जिसके पहले दिन आज 14 मई को अलवर के कलाकारों ने नृसिंह लीला का मंचन किया। लीला मंचन के बाद भगवान कल्याण की आरती की गई। साथ ही नृसिंह जयंती के मौके पर भगवान कल्याण की प्रतिमा को भगवान नृसिंह के अवतार में सजाया गए।

महंत विष्णु प्रसाद शर्मा ने बताया कि 15 मई को सुबह 8 बजे निशानयात्रा निकाली जाएगी। निशान यात्रा राधा दामोदर मंदिर से रवाना होगी। विभिन्न मार्गों से होती हुई श्री कल्याण धाम पहुंचेगी। इस दौरान अलवर के कलाकारों की ओर से शिव-पार्वती और राधा-कृष्ण लीला की प्रस्तुति दी जाएगी। शाम को मंदिर में दीपोत्सव होगा। श्रद्धालु 11-11 दीपक लाकर मंदिर में जलाएंगे। 16 मई को जीर्णोद्धार कलश स्थापना की जाएगी। इसके साथ ही रात को भगवान कल्याण जी को चार फीट का ऊंचा 11 किलो का केक भी काटा जाएगा।

खंभे से प्रकट होते हुए भगवान नृसिंह
खंभे से प्रकट होते हुए भगवान नृसिंह
हिरण्यकश्यप और भगवान नृसिंह के बीच युद्ध
हिरण्यकश्यप और भगवान नृसिंह के बीच युद्ध
नाखूनों से हिरण्यकश्यप का वध करते हुए भगवान नृसिंह।
नाखूनों से हिरण्यकश्यप का वध करते हुए भगवान नृसिंह।
सेवक को आशीर्वाद देते हुए भगवान नृसिंह।
सेवक को आशीर्वाद देते हुए भगवान नृसिंह।
भगवान नृसिंह की आरती करते हुए मंदिर महंत विष्णुप्रसाद शर्मा।
भगवान नृसिंह की आरती करते हुए मंदिर महंत विष्णुप्रसाद शर्मा।
भगवान नृसिंह के अवतार में भगवान कल्याण की मूर्ति।
भगवान नृसिंह के अवतार में भगवान कल्याण की मूर्ति।
आरती में मौजूद भक्त।
आरती में मौजूद भक्त।