सीकर में दिवाली की धूम:धन-धान्य की देवी मां लक्ष्मी को रिझाया

सीकरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीकर गोवर्धन पूजा पर पूजन करते हुए - Dainik Bhaskar
सीकर गोवर्धन पूजा पर पूजन करते हुए

दिवाली का त्याेहार उल्लास के साथ मनाया गया। घर-आंगन दीपोत्सव की रोशनी से जगमगा हो उठे। लोगों ने शुभ मुहूर्त में मां लक्ष्मी का पूजन किया। महिलाओं-बालिकाओं और युवतियों ने घरों में पारम्परिक मांडणे और रंगोली सजाई। विभिन्न तरह की मिठाइयों, पकवानों, फलों व ड्राई फूड्स आदि का भोग लगाकर मां लक्ष्मी, गणेश जी और विद्या की देवी मां सरस्वती की पूजा की। मिठाई-पकवान से महके घर : दीपावली की तैयारियां एक सप्ताह पहले शुरू हो गई। गुरुवार को महालक्ष्मी पूजन पर घरों, मंदिरों में पकवान बनाए। गुंझिए, नारियल और बेसन की चक्की, लड्‌डू, लापसी-चावल, मठरी, मिठाई और अन्य पकवान बनाए गए। इसके अलावा मठरी, नमकीन, चिवड़ा और अन्य सामग्री भी बनाई गई। दो घंटे से ज्यादा चले पटाखे : दीवाली पर गलियों-मोहल्लों में लोगों ने शाम को लक्ष्मी पूजन के बाद लोगों ने फुलझड़ी, अनार और सहित अन्य पटाखों की जमकर आतिशबाजी की। हालांकि सरकार ने रात 8 से 10 बजे तक पटाखे चलाने की अनुमति दी थी, लेकिन गाइडलाइन का उल्लंघन होता रहा। रंगबिरंगी रोशनी से शहर जगमग: दीपक और रंगबिरंगी रोशनी से पूरा शहर जगमगाता उठा। कल्याण सर्किल, जाट व तबेला मार्केट, सुभाष चाैक, घंटाघर इलाका समेत शहर के अलग-अलग माेहल्लाें में रंग-बिरंगी रोशन सजाई गई।

खबरें और भी हैं...