• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Married With One And A Half Lakhs, Absconding With The Broker After Two Days, The Broker Is Aware Of The Victim's Groom

लुटेरी दुल्हन गैंग के साथ गिरफ्तार:डेढ़ लाख रुपए लेकर कोर्ट मैरिज की,​​​​​​​शादी के दो दिन बाद दलाल के साथ भागी

सीकर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लुटेरी दुल्हन बरखा। - Dainik Bhaskar
लुटेरी दुल्हन बरखा।

सीकर पुलिस ने गुरुवार को लुटेरी दुल्हन और उसकी गैंग के 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दौलतपुरा गांव के रहने वाले एक युवक से कोर्ट मैरिज कर डेढ़ लाख रुपए की ठगी की थी। शादी के दो दिन बाद ही लड़की फरार हो गई। आरोपियों से पूछताछ में ठगी के कई मामलों का खुलासा होने की संभावना है।

दादिया थाना अधिकारी सुभाष चंद ने बताया कि 1 दिसंबर को दौलतपुरा गांव के रहने वाले महिपाल सिंह ख्यालिया ने मामला दर्ज करवाया था। फर्जी शादी और डेढ़ लाख की ठगी के मामले में आरोपियों के ठहरने की जगह दबिश दी गई। होटल से फर्जी दुल्हन बरखा लोहारा (19) निवासी अलीपुरद्वार,पश्चिम बंगाल, ओमप्रकाश जाट (30) निवासी ग्राम आकवा,सीकर, अलीना तांती (22) निवासी नागांव,असम, अजित सोरेंग (50) निवासी सुदरगढ़,उड़ीसा और रहमत खान (30) निवासी अलीपुरद्वार, पश्चिम बंगाल को गिरफ्तार किया गया।

परिचित ने दुल्हन से मिलवाया
युवक महिपाल सिंह ख्यालिया ने बताया कि 28 नवंबर को उसका परिचित ओमप्रकाश जाट घर आया। उसने 2 लाख रुपए देकर शादी करवाने की बात कही। इस बारे में जीजा बलवीर सिंह और मामा सुखदेवा व मुखराम को बताया। घरवालों ने ओमप्रकाश से बात की। इसके बाद ओमप्रकाश जीजा व दोनों मामा को लड़की और उसके परिजनों से मिलवाने सीकर रेलवे स्टेशन आया। ओमप्रकाश ने लड़की बरखा और अलीना, रहमत, अजित से मिलवाया। ओमप्रकाश ने शादी करवाने के बहाने चारों को डेढ़ लाख रुपए दिलवा दिए। बचे हुए पचास हजार रुपए दो दिन बाद होटल मनीष पैलेस पर देने की बात कही। चारों आरोपी उसी होटल में ठहरे थे।

पुलिस गिरफ्त में लुटेरी दुल्हन और उसकी गैंग के सदस्य।
पुलिस गिरफ्त में लुटेरी दुल्हन और उसकी गैंग के सदस्य।

कोर्ट में की शादी
28 नवंबर को युवक अपने जीजा और दोनों मामा के साथ सीकर कोर्ट पहुंचा। ओमप्रकाश, बरखा, अलीना, रहमत और अजित पांचों पहले से मौजूद थे। सभी ने शादी के इकरारनामे में साइन किए। ओमप्रकाश ने इकरारनामा को नोटेरी करवाकर युवक को सौंप दिया। इसके बाद दुल्हन बरखा को लेकर घर पर आ गया।

शादी का इकरारनामा लेकर भागी
शादी के दूसरे दिन ओमप्रकाश युवक के घर आया। युवक ने पिपराली गांव में रहने वाली अपनी बहन विनोद के घर पर जाने की बात कही। तीनों वहां चले गए। रात 3 बजे आंख खुली तो ओमप्रकाश और बरखा नहीं मिले। मोबाइल फोन, आधार कार्ड और शादी का इकरारनामा भी गायब है। थाना अधिकारी सुभाष ने बताया कि लड़की और उसके साथियों के ठहरने की जगह दबिश देकर उन्हें हिरासत में लिया गया। पूछताछ में पांचों ने अपना जुर्म कबूल किया। फिलहाल आरोपियों से पूछताछ जारी है। ऐसी ही अन्य भी कई वारदातों का खुलासा होने की संभावना है।