पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कार्रवाई:विदेश भेजने के नाम पर ठगी के आरोपी मासूक अली को पुलिस ने मुंबई से दबोचा

खाटूश्यामजी8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

विदेश भेजने के नाम पर लोगों से ठगी करने के आरोपी को पुलिस ने धारावी मुंबई से गिरफ्तार कर लिया। रींगस डीवाईएसपी बनवारी लाल धायल ने बताया कि जनवरी में अलोदा निवासी नाथूराम ने खाटूश्यामजी थाने में ठगी का मामला दर्ज करवाया था। थाना प्रभारी पूजा पूनिया के नेतृत्व में हैड कांस्टेबल लालचंद वर्मा, कांस्टेबल मनोज मीणा, कांस्टेबल रोहिताश चौधरी कांस्टेबल झाबरमल की टीम बनाकर मुंबई भेजा। टीम ने विदेश भेजने के नाम पर ठगी के आरोपी मासूक अली को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपी को यह भी पता नहीं चला की राजस्थान की पुलिस उसे गिरफ्तार कर रही है। जांच अधिकारी हैडकांस्टेबल लालचंद वर्मा ही ने बताया कि पुलिस ने अलग-अलग जगहों से दबिश देते हुए पुलिस संपर्क नंबरों के आधार पर आरोपी तक पहुंची और मुंबई की धारावी से मासूम अली को गिरफ्तार कर लिया गया।

बदरुद्दीन करता था मध्यस्था : बदरुद्दीन निवासी मीठड़ी नावा नागौर विदेश भेजने के नाम पर ग्राहकों को तैयार करता था और उनसे पैसों का लेनदेन कर मध्यस्था का कार्य करता था और पैसे मुंबई स्थित मासूक अली के खाते में डलवाता था और फर्जी वीजा तैयार कर कोरियर से लोगों के पास भेजे जाते थे।
रुपए ऐंठने के बाद नंबर ब्लैक लिस्ट में डाल देता था

पूछताछ में सामने आया कि आरोपी मासूक अली जिन लोगों से पैसे लेता था उनके मोबाइल नंबर ब्लैक लिस्ट में डाल देता था। पूछताछ में सामने आया कि यूपी, राजस्थान, मध्य प्रदेश सहित अनेक राज्यों के 171 मोबाइल नंबर ब्लैक लिस्ट में डाल रखे थे। स्थानीय थाने के अंतर्गत करीब 6 लाख की हुई ठगी की थी। 4 लोगों से करीब पांच लाख 94 हजार की ठगी करने का मामला सामने आया है और चारों पीड़ित रिश्तेदार या संपर्क के अनुसार घनिष्ठ मित्रता वाले हैं।

करीब आधा दर्जन राज्यों में है नेटवर्क : आरोपी मासूक अली का नेटवर्क भिवंडी, आजमगढ़, लखनऊ, दादर व राजस्थान के कोटपूतली, नागौर, फुलेरा, सीकर सहित अनेक स्थानों पर अपना नेटवर्क फैला रखा है जो फर्जी वीजा तैयार कर विदेश भेजने का लोगों को झांसा देता था और उन्हें अपने जाल में फंसाकर उनसे रुपए एंठता था।

खबरें और भी हैं...