काॅपी-पेस्ट:सदस्याेंं ने काॅपी किए पिछले पाॅइंट्स, अधिकारियों ने जवाब पेस्ट कर दिए

सीकर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मीटिंग में फसल खराबे को लेकर सांसद से बहस के बाद हाथ जोड़ते सदस्य बाज्या। - Dainik Bhaskar
मीटिंग में फसल खराबे को लेकर सांसद से बहस के बाद हाथ जोड़ते सदस्य बाज्या।
  • खराब सड़काें पर सदस्याें हंगामा, फसल खराबे पर विशेष गिरदावरी की मांग

जिला परिषद साधारण सभा की बैठक बुधवार को चार महीने बाद हुई। मीटिंग में पुराने मुद्दों पर काम नहीं होने, बदहाल सड़क और बिगड़ी स्वास्थ्य व्यवस्थाओं के मुद्दे छाए रहे। जबकि एजेंडे के बिंदुओं पर चर्चा तक नहीं हो पाई। मीटिंग में सदस्य बाेले-जिले में सड़काें के हालात ऐसे कि लाेगाें को मजबूरन रास्ते बदलने पड़ रहे हैं। पीडब्ल्यूडी अफसरों के टेंडर करवाने के जवाब पर सदस्य उखड़ गए। बोले कि 12 महीने से यही बात सुन रहे हैं, हाे कुछ नहीं रहा है।

जिला प्रमुख गायत्री कंवर ने 11.15 मीटिंग शुरू की। मीटिंग में सदस्यों ने सड़क, फसल खराबे को लेकर मामला उठाया। इस पर कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी ने कहा-खराबे की विशेष गिरदावरी करवाई जा रही है। जिप सदस्याें ने पंचायत समितियाें की मीटिंगाें में नहीं बुलाने पर आपत्ति जताई। कलेक्टर ने सदस्यों को आमंत्रित करने के लिए बीडीओ को पाबंद किया। मीटिंग में सांसद सुमेधानंद सरस्वती, विधायक वीरेंद्रसिंह, एसपी कुंवर राष्ट्रदीप, सीईओ सुरेश कुमार माैजूद रहे।

एडीएम पर जनप्रतिनिधियाें ने लगाए उपेक्षा के आराेप

सदस्य जयंत ने एडीएम धारासिंह मीना पर सुनवाई न करने का आराेप लगाया। सदस्य बाेले- परिचय देने के बावजूद भी एडीएम का व्यवहार उपेक्षापूर्ण रहा। सदस्य इंद्रा चाैधरी ने कहा कि अफसरशाही काे अंहकार नहीं हाेना चाहिए। अफसराें काे जनप्रतिनिधियाें की बात सुननी हाेगी।

पिछले मुद्‌दे दुबारा उठे तो अफसरों के रटे-रटाए जवाब; पाबंद कर दिया, कार्रवाई करेंगे

1. आवास आवंटन- सांसद सुमेधानंद ने कहा, पिपराली में 7 कराेड़ खर्च कर चिकित्सकाें के क्वार्टर तैयार किए, लेकिन वहां चिकित्सक नहीं रुकते। सीएमएचओ ने कहा कि क्वार्टराें में काम अधूरा है। 3.50 लाख रुपए मिलें ताे काम पूरा कराया जा सके। सांसद बोले कि बजट नहीं है ताे चंदे से करवा लेंगे।
जवाब- आवास आवंटन मामले की अनुपालना में सीएमएचओ ने चिकित्सा प्रभारियों को पाबंद करने की बात कही।

2. चिकित्सा कर्मियों की अनुपस्थिति- मीटिंग में ताराचंद धायल ने सीएचसी पर डाॅक्टराें के रात में नहीं रुकने का मुद्दा उठाया। सांसद ने भी इस पर आपत्ति जताई। पिछली मीटिंग में भी सदस्यों ने यह मुद्दा उठाया था।
जवाब- सीएमएचओ ने डाॅक्टराें और नर्सिंग स्टाफ पर कार्रवाई का भराेसा दिया। पिछली मीटिंग में भी सीएमएचओ ने इस मामले में कार्रवाई का आश्वासन दिया था।

3. रीको संपत्ति आवंटन- सदस्याें ने पलसाना रीको में 25 करोड़ रुपए की संपत्ति महज 3 करोड़ में छोड़ने का मुद्दा उठाया। अनुपालना रिपोर्ट में बताया गया कि रीको भूमि विशेषाधिकारी जांच कर रहे हैं। रिपोर्ट आने पर अवगत करवाया जाएगा। इस पर मीटिंग में सदस्य ने यह मुद्दा फिर उठाया।
जवाब- कलेक्टर ने एसडीएम सहित अन्य अधिकारी की कमेटी से दोबारा जांच करवाने का आश्वासन दिया।

4. खेल एकेडमी- थोरासी गांव में खेल अकेडमी खोलने की मांग की गई। सदस्य ने पिछली मीटिंग में भी यह मुद्दा उठाया था। उस दौरान शिक्षा मंत्री डोटासरा ने जिला शिक्षा अधिकारी को दो तीन स्कूल चिन्हित कर कार्रवाई करने के लिए कहा था।
जवाब- जिला परिषद को मीटिंग होने तक कोई अनुपालना रिपोर्ट नहीं मिली। मीटिंग में जिला शिक्षा अधिकारी बोले, प्रस्ताव बनाकर सरकार को भेजे गए हैं।

फसल खराबा- सांसद से बाज्या की बहस

अतिवृष्टि से खराब फसलाें को सदस्य सुभाष बाज्या सांसद से भिड़ गए। सुभाष ने खराब फसल डाइस पर रखते हुए विशेष गिरदावरी की मांग की। इस पर सांसद भी तल्ख हाे गए। बाेले- जब आपका जन्म हुआ था, तब घर छाेड़ दिया था। सदन में ऐसा करना उचित नहीं है। सुभाष बाज्या ने कहा, किसानाें के घर अंधेरा करने का हक किसी काे नहीं है। बिजली निगम अफसर फर्जी वीसीआर भर रहे है।

क्षतिग्रस्त सड़कें

उपजिला प्रमुख ताराचंद धायल ने कहा कि डाक बंगले से बिजली निगम एसई ऑफिस तक 2 साल पहले बनी सीसी सड़क पूरी तरह साफ हो चुकी है। पीडब्ल्यूडी अफसरों ने कहा-रोड पर काॅलाेनियों का पानी जमा होने से सड़क को नुकसान हो रहा है। सदस्य ने धाेद और पिपराली ब्लाॅक की खराब सड़काें के मुद्दे उठाए। सदस्य कैलाश बाेपिया ने कहा, नीमकाथाना में डंपराें से सड़कों को नुकसान हो रहा है। मीटिंग में रानाेली से काेछाेर, लाेसल से सिंगरावट, चिपलाटा से अजमेरी शाहपुरा, पिपराली से बाजाेर सड़क की मरम्मत काे लेकर सवाल किए।

स्वास्थ्य व्यवस्थाएं

सदस्याें ने ग्रामीण इलाकों में स्वास्थ्य केंद्राें पर ताले लटके हाेने के आराेप लगाए। सीएमएचओ ने डाॅक्टराें और नर्सिंग स्टाफ पर कार्रवाई का भराेसा दिया। सांसद सुमेधानंद ने सीएमएचओ काे सीएचसी पर रात के समय चिकित्सक और स्टाफ की ड्यूटी सुनिश्चित करने काे कहा। एसके हाॅस्पिटल में बिगड़ी व्यवस्था पर सवाल उठाए। पर्ची काउंटराें, साेनाेग्राफी जांच सिस्टम बदलने की मांग उठाई। हालात नहीं सुधरने पर सदस्याें ने धरने पर बैठने के लिए चेताया।

खबरें और भी हैं...