पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समिति अध्यक्ष का आरोप:मंत्री ने गबन किया मंत्री इंदौरिया बोले, गिनोड़िया जमीन हथियाना चाहते हैं

सीकर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दूजोद गेट स्थित श्रीश्याम मंदिर सत्संग समिति का मामला, इस्तगासे से मुकदमा
  • मंत्री बोले- आराेप गलत, बिल जमा करवाने और मृतक कर्मचारी के परिजनों के लिए निकाले थे रुपए

दूजोद गेट स्थित श्रीश्याम मंदिर सत्संग समिति अध्यक्ष और मंत्री आपसी विवाद को लेकर आमने-सामने है। अध्यक्ष पवन गिनोड़िया ने मंत्री जानकीप्रसाद इंदौरिया के खिलाफ इस्तगासे से कोतवाली में 67,224 रुपए के गबन का मुकदमा करवाया है। वहीं मंत्री इंदौरिया का आरोप है कि समिति अध्यक्ष धर्मशाला को दान में मिली जमीन हथियाना चाहते हैं।

श्री श्याम मंदिर सत्संग समिति अध्यक्ष शेखपुरा निवासी पवन गिनाेड़िया ने इस्तगासे से रिपाेर्ट दर्ज करवाई कि समिति के खाते का संचालन पूर्व में संस्था के मंत्री जानकीप्रसाद इंदाैरिया व काेषाध्यक्ष विजय कुमार ताेदी करते थे। विजय कुमार की 7 अगस्त काे माैत हाे गई थी।

इसके बाद समिति द्वारा अन्य काेषाध्यक्ष का मनाेनयन नहीं किया गया। आरोप है कि मंत्री जानकी प्रसाद इंदाैरिया ने मनाेनयन और निर्वाचन के बिना आशकरण पाैद्दार काे समिति काेषाध्यक्ष दर्शाकर समिति के खाते से 67,224 रुपए निकाल लिए।

एएसआई कमला का कहना है कि गबन के परिवाद की जांच की जा रही है। इधर, मंत्री जानकी प्रसाद इंदाैरिया का कहना है कि अध्यक्ष द्वारा लगाए गए गबन के आरोप गलत है। समिति द्वारा खाटू में सीकर धर्मशाला संचालित है। उस धर्मशाला का बिजली का बिल लंबे समय से बकाया चल रहा था। इसलिए समिति के खाते से 33 हजार रु. निकालकर बिजली बिल जमा करवाया गया। करीब 32 हजार रुपए धर्मशाला में ही काम करने वाले कर्मचारी की माैत पर उसके परिजनों काे बताैर मदद दिए गए थे। इसके दस्तावेज काेतवाली में पेश कर दिए।
चुनाव के नियम

संस्था के चुनाव हर पांच साल में होने चाहिए। इस बार कोरोना के कारण नहीं हो सके। एक तिहाई सदस्यों की सहमति से किसी को पद पर नियुक्ति और हटाने की कार्रवाई की जा सकती है। इधर, पवन गिनोड़िया का कहना है कि उन्होंने नई कार्यकारिणी बना ली है। रजिस्ट्रेशन करवा लिया है। जबकि मंत्री इंदौरिया का दावा है कि प्रोसेडिंग रजिस्टर समिति के पास है। उसमें नई कार्यकरिणी का कोई रिकॉर्ड नहीं है।

मंत्री बोले, समिति का पूरा हिसाब-किताब कोषाध्यक्ष के पास है
मंत्री जानकी प्रसाद इंदाैरिया का अाराेप है कि अध्यक्ष पवन गिनाैड़िया झूठे आराेप लगाकर खाटूश्यामजी में स्थित दान में मिली कराेड़ाें रुपए की जमीन हथियाना चाहते हैं। काेविड -19 की पालना के लिए समिति के कुछ मैंबराें की मीटिंग बुलाकर ही अागामी व्यवस्था तक समिति के खाते से संस्था के हित में दाे चेक जारी किए थे। क्याेंकि समिति के काेषाध्यक्ष विजय कुमार की माैत हाे गई थी। इसीलिए अाशकरण काे काेषाध्यक्ष बनाया गया था। समिति का सारा हिसाब किताब पूर्व काेषाध्यक्ष विजय कुमार के पास ही था।
अध्यक्ष बोले, मंत्री ने छह साल में कार्यकारिणी की मीटिंग नहीं बुलाई
समिति के अध्यक्ष पवन गिनोड़िया का कहना है कि 2014 में उनकाे समिति का अध्यक्ष बनाया गया था। तब से लेकर अाज तक समिति के मंत्री जानकी प्रसाद इंदाैरिया ने खाटूश्यामजी में संचालित धर्मशाला में हाेने वाली कमाई का हिसाब नहीं दिया है। ना ही कभी छह साल में कार्यकारिणी का मीटिंग बुलाई है। मैने उनकी धर्मशाला से हाेने वाली 5-6 लाख की कमाई बंद कर दी। इसलिए उनकी नियत में खाेट अा गई है। धर्मशाला में कमरे बनाने के रुपए लेने के बाद भी अाज तक वहां कमरे नहीं बने हैं।
खाटूश्यामजी में स्थित धर्मशाला की जमीन करोड़ों की बताई जा रही है

सूत्राें का कहना है कि वर्तमान में खाटूश्यामजी में स्थित सीकर धर्मशाला की जमीन की कीमत करोड़ों रुपए की है। समिति अध्यक्ष पवन गिनोड़िया के पिता गीगराज गिनोड़िया ने हुलासमल तोदी द्वारा खाटूश्यामजी में खरीदी गई जमीन पॉवर ऑफ अटॉर्नी के जरिए 1989 में धर्मशाला संचालन के लिए समिति को दी थी। समर्पण प्रलेख में लिखा गया कि हुलासमल ताेदी सामान्यतया कलकत्ता रहते हैं और अस्वस्थ भी हैं।

इस कारण इस भूखंड पर विश्रामगृह निर्माण कराने में सक्षम नहीं है। इसलिए यह भूखंड हुलासमल ताेदी ने जनहित में विश्रामगृह निर्माण के लिए माैखिक रूप से समिति के मुख्य कार्यकर्ता सत्यनारायण गड़ीका व संस्था के मंत्री राधेश्याम जाेशी काे 1988 को समर्पित कर संस्थाहित में उक्त पदाधिकारियाें काे संभला दिया है। समर्पित भूखंड जनहित में विश्रामगृह निर्माण संबंधी उद्देश्य के लिए ही काम में लिया जा सकेगा। इसलिए यह भूखंड श्री श्याम मंदिर सत्संग समिति काे समर्पित करता हूं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें