लम्पी बीमारी को लेकर लापरवाही बर्दाश्त नहीं:प्रभारी मंत्री ने बैठक ली , अनुपस्थित रहने पर कृषि अधिकारी को APO करने का निर्देश

सीकर6 महीने पहले
प्रभारी मंत्री ने अधिकारियों को दिए निर्देश।

गायों में बढ़ रही लम्पी बीमारी को लेकर किसी तरह की लापरवाही नहीं बरतने के साथ हर ग्रामीण इलाकों तक दवाई उपलब्ध कराने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए गए। लम्पी वायरस के बढ़ते संक्रमण के बाद प्रभारी मंत्री शंकुतला रावत ने अधिकारियों की मीटिंग ली। वहीं कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा, गायों को बचाना हमारा परम कर्तव्य है। इसमें चाहे कितनी भी राशि की जरूरत हो सरकार पूरी तरह से मदद करने को तैयार रहेगी।

सीकर में भी गायों में लम्पी वायरस के बढ़ते आंकड़ों के बाद प्रशासन और सरकार कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। प्रभारी मंत्री शंकुतला रावत ने आज सीकर में अधिकारियों के साथ मीटिंग कर बीमारी को लेकर किसी तरह की कोताही नहीं बरतने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा, एक दो दिन ही पशु की हालात खराब हो रही है जिसके कारण वह दम तोड़ देता है। पशुओं की मौत से किसानों की रोजी रोटी पर भी संकट आ रहा है। इसको लेकर मुख्यमंत्री, कृषि मंत्री भी लगातार फीडबैक ले रहे हैं। उन्होंने बताया कि डॉक्टरों को भी निर्देश दिए हैं कि वह ग्रामीणों इलाकों में जाकर पशुओं का इलाज करे। दवाई के लिए जितने पैसे खर्च होंगे सरकार वहन करेगी लेकिन किसी बेजुबान की जान नहीं जाए।

कृषि विभाग के उपनिदेशक को APO करने के निर्देश

पटवारी ग्रामसेवक, बीडीओ, तहसीलदार, डॉक्टरो को निर्देश दिए है कि दो दिन में इसको लेकर रिपोर्ट सौंपें। कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि वेटेनरी डॉक्टर और अधिकारियों को ग्रामीण इलाकों में दौरे करने के साथ मौजूदा स्थिति से निपटने के लिए जुटने को कहा है। इसको लेकर किसी तरह की पैसों की कमी नहीं आएगी। इसके साथ ही हमारे कोटे से खाली लेटर पैड पर साइन कर दे दिए हैं ताकि दवाइयो के लिए किसी तरह की पैसे की कमी नहीं हो। वहीं मीटिंग में कृषि विभाग के उपनिदेशक अजीत सिंह को अनुपस्थित रहने पर एपीओ के आदेश दिए गए।