घना कोहरा और बादल छाए:कम विजिबिलिटी के कारण पतंगबाजों को हुई परेशानी, तापमान में बढ़ोतरी के बाद भी बढ़ी सर्दी

सीकर7 महीने पहले

मकर सक्रांति के पर्व पर आज जिले के अधिकतर क्षेत्रों में सुबह से ही घना कोहरा और बादल छाए रहे। जिसके चलते मकर सक्रांति पर्व पर भी लोग छत की बजाय रजाई, कंबल में ही दुबके हुए नजर आए। कोहरे के चलते सड़कों पर आवागमन भी न के बराबर रहा। प्रदेश में सबसे ठंडे माने जाने वाले फतेहपुर में सुबह का न्यूनतम तापमान 8.4 डिग्री रहा। इससे पहले गुरुवार को यहां न्यूनतम तापमान 2.5 डिग्री रहा। ऐसे में तापमान में बढ़ोतरी के बाद भी कोहरे और बादलों के चलते सर्दी बढ़ी है। वहीं विजिबिलिटी भी 100 मीटर रही। विशेषज्ञों की माने तो अभी कुछ दिनों तक मौसम शुष्क रहेगा।

कृषि अनुसंधान केंद्र फतेहपुर के बाबूलाल कुमावत ने बताया कि दक्षिणी हवा चलने से जिले में आज एक साथ कोहरे और बादल एक साथ छाए हुए हैं। कुमावत ने बताया कि अभी 1 करीब 1 सप्ताह तक मौसम शुष्क रहेगा। जिसके चलते तापमान में उतार-चढ़ाव दर्ज किया जाएगा। ऐसे में उत्तरी हवाओं के चलने से सर्दी बढ़ेगी। इसके अलावा दक्षिणी हवा के चलने पर बादलों की आवाजाही के साथ हल्की बारिश भी हो सकती है।

कम विजिबिलिटी के चलते पतंगबाजी नहीं
बाबूलाल कुमावत ने बताया कि फिलहाल क्षेत्र में करीब 12 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से पूर्वी हवा चल रही है। क्षेत्र में दोपहर तक हवा की रफ्तार 12 से 14 किलोमीटर के बीच रहेगी। हालांकि क्षेत्र में 12 किलोमीटर की रफ्तार से पूर्वी हवा चल रही है जो पतंगबाजी के लिए पर्याप्त है। कम विजिबिलिटी के चलते सुबह 9:00 बजे बाद भी आसमान में पतंग काफी कम दिखाई दी।

खबरें और भी हैं...