पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • MP Sumedhanand Saraswati Wrote A Letter To The Governor, Did Not Distribute The Gram Received From The Center For The Needy; Distributing The Wasted Gram Now Can Result In Loss Of Life

केंद्र की मदद का दुरुपयोग:सांसद सुमेधानंद सरस्वती ने लिखा गर्वनर को पत्र, जरूरतमंद के लिए केंद्र से मिले चने को नहीं बांटा; बर्बाद चने को अब बांटने से हो सकता है नुकसान

सीकर8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
स्वामी सुमेधानंद - Dainik Bhaskar
स्वामी सुमेधानंद

सांसद स्वामी सुमेधानंद सरस्वती ने राज्य सरकार पर केन्द्रीय गरीब कल्याण योजना के तहत केंद्र से भेजे गए हजारों टन चने में से बचे दो हजार टन चने पर लीपापोती का आरोप लगाया है। सांसद ने राज्यपाल को पत्र लिखकर चने की गुणवत्ता की जांच की मांग की है।

स्वामी सुमेधानंद ने बयान जारी कर कहा कि कोरोना काल में पिछले लॉकडाउन के समय पीएम नरेन्द्र मोदी ने गरीब कल्याण योजना के तहत 24 हजार टन चना भिजवाया था। पिछली दफा प्रशासन ने जरूरतमंदों को नहीं बांटा। सीकर और अन्य जिलों में करीब दो हजार टन चना बचा पड़ा हैं। जानकारी मिली है कि सरकार बचे हुए चने को लेकर लीपोपोती करना चाहती है।

मामले की जांच का निवेदन किया

सांसद ने कहा कि ऐसी जानकारी मिल रही है कि राज्य की कांग्रेस सरकार अब महिला बाल कल्याण विभाग के जरिए गर्भवती महिलाओं और बच्चों को खिलाना चाहती हैं। उन्होंने राज्यपाल से निवेदन किया कि इस मामले की जांच कराई जाए।

नहीं हो रही सार संभाल

सीकर एमपी सुमेधानंद ने संबंधित कलेक्टर को आदेश कर चने की जांच के बाद ही वितरण किया जाना चाहिए। क्योंकि पिछले कई महीनों से चना रखा हुआ है। ऐसे में उनकी सार संभाल ​नहीं की गई। जबकि चने को काफी सहूलियत से रखा जाता है। जिसकी उम्मीद प्रशासन से नहीं होती।

सांसद ने आरोप लगाया है कि कोरोना वैक्सीन को बर्बाद कर केंद्र सरकार को बदनाम किया जा रहा है, जबकि इससे पहले चने को बर्बाद किया जा रहा है। इस चने से गर्भवती महिलाओं के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ नहीं होना चाहिए।

खबरें और भी हैं...