चक्रवात के दबाव से 6 दिन में दो बार बदला:रात का पारा बढ़कर 2.70 हुआ, आज से कोहरे व शीतलहर का अलर्ट

सीकरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
खेत में सुबह फव्वारों से सिंचाई के दौरान ऐसा नजारा बना। - Dainik Bhaskar
खेत में सुबह फव्वारों से सिंचाई के दौरान ऐसा नजारा बना।

दिसंबर के पहले पखवाड़े में चक्रवाती दबाव के साथ मौसम के मिजाज बार-बार बदल रहे हैं। तीन दिन पहले इलाके में रही जमाव बिंदु के नीचे की सर्दी एक बार फिर सामान्य हो गई है। तीन दिन से पश्चिमी विक्षोभ के दबाव में तापमान बढ़ता जा रहा है।

11 दिसंबर को माइनस 1.4 डिग्री तक पहुंचे रात के तापमान में 3 डिग्री से ज्यादा की बढ़ोतरी हो चुकी है। फतेहपुर कृषि अनुसंधान केंद्र पर मंगलवार को अधिकतम 23.0 व न्यूनतम तापमान 2.7 डिग्री रहा। सोमवार को अधिकतम 23.0 व न्यूनतम तापमान 1.4 डिग्री रहा। सीकर जिले का पिछले 7 साल का रिकॉर्ड देखें, तो दिसंबर के दूसरे पखवाड़े में रात का तापमान जमाव बिंदु के नीचे जाता रहा है। इस साल पहली बार दिसंबर के शुरुआती 12 दिन में ही कड़ाकेदार ठंड भी अहसास करा चुकी है।

एक्सपर्ट व्यू }चक्रवात के दबाव से 6 दिन में दो बार बदला मौसम आठ से 13 दिसंबर तक मौसम दो बार बदल चुका है। फतेहपुर कृषि अनुसंधान केंद्र पर आठ दिसंबर से ही रात का पारा जमाव बिंदु के करीब बना रहा। 11 दिसंबर को माइनस 1.4 डिग्री दर्ज हुअा। रविवार काे 1.4 डिग्री की बढ़ाेतरी के साथ तापमान 0.0 डिग्री दर्ज होते ही मौसम में भी बदलाव होने लगा। महज 3 दिन में ही रात के तापमान में 4 डिग्री तक की बढ़ोतरी हो चुकी है।

आगे क्या - पश्चिमी विक्षोभ के कारण बढ़ेगा सर्दी का असर
माैसम विभाग के अनुसार फिलहाल उत्तरी इलाकाें में पश्चिमी विक्षाेभ का असर हाेने से 15 दिसंबर तक माैसम शुष्क रहने की संभावना है। इस कारण दिन में भी सर्दी का असर बढ़ेगा। इसके बाद कुछ स्थानों पर कोहरे एवं शीत लहर की स्थिति बन सकती है। माैसम विभाग के निदेशक राधेश्याम शर्मा के अनुसार राजस्थान में पश्चिमी विक्षाेभ के असर का विशेष प्रभाव नहीं रहेगा।

खबरें और भी हैं...