पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बंगाली कारीगर गिरफ्तार:75 लाख का सोना चुराने के बाद स्टेशन-पोस्ट ऑफिस की बैंच पर गुजारी रातें, सिर्फ 343 ग्राम जेवर बरामद

सीकर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी फूल कुमार। - Dainik Bhaskar
आरोपी फूल कुमार।
  • सीकर से फरार हुए बंगाली कारीगर को 9 दिन बाद प. बंगाल में बालाघाट से पकड़ा

11 जुलाई की रात काे सीकर के कई ज्वैलर्स का साेना लेकर फरार हुए बंगाली कारीगर फूलकुमार बारी काे पुलिस ने घटना के नाैवें दिन प. बंगाल के बालाघाट इलाके से गिरफ्तार कर लिया। आराेपी के कब्जे से पुलिस काे फिलहाल 343 ग्राम साेने के जेवर ही बरामद हुए हैं। व्यापारियाें का आराेप था कि फूलकुमार उनका 75 लाख रुपए का डेढ़ किलाे साेना लेकर चला गया है। पुलिस अब आरोपी से बाकी सोने के बारे में पूछताछ करेगी।

काेतवाल कन्हैयालाल ने बताया कि पुलिस ने ज्वैलर्स का सोना लेकर फरार हुए बंगाली कारीगर फूल कुमार बारी पुत्र संयासी बारी निवासी पश्चिम बंगाल को हावड़ा बालाघाट से गिरफ्तार कर 343 ग्राम सोने के जेवर बरामद किए हैं। उन्होंने बताया कि उसकी तलाश के लिए हमने टीमों को अलग-अलग जगह भेजा था। आराेपी काे हावड़ा से गिरफ्तार कर 343 ग्राम सोने के जेवर बरामद किए हैं। फूल कुमार बारी से बाकी सोने के बारे में पूछताछ की जा रही है।

दोस्त के जरिए मदद का भरोसा दिलाया, तब पकड़ में आया आरोपी - एसआई सुभाषचंद्र राहड़ (जांच अधिकारी)

फूलकुमार काे पकड़ने के लिए मैं सिविल ड्रेस में गेटअप चेंज करके गया था। सीकर से अपने साले माधव काे टैक्सी में जयपुर ले जाने के बाद उसने माधव काे ताे गांव भेज दिया था। साेशल मीडिया पर जब इसने साेना लेकर फरार हाेने की खबर देखी ताे वो अपने गांव या घर नहीं जाकर वेस्ट बंगाल में ही रेलवे स्टेशन और पाेस्ट ऑफिस के बाहर बनी बैंच पर साे कर फरारी काटता रहा। आराेपी ने अपने परिवार और दाेस्ताें काे भी नहीं बताया कि वह सीकर से साेना लेकर आया है।

इसके बाद मैंने फूलकुमार के दाेस्त काे विश्वास दिलाया कि वह उसकी मदद के लिए यहां आया है। क्याेंकि मेरी पुलिस के बड़े अफसराें से जान पहचान है और मैं सीकर के ज्वैलर्स से भी वह उसकाे बचा लूंगा। इसके बाद दाेस्त ने फूलकुमार काे यह बात कही ताे उसने कहा कि वह शाम काे चार बजे बालाघाट आकर उससे मिले। यहां जब फूलकुमार आया ताे मैं सिविल ड्रेस में गेटअप बदलकर बैठा था और मैंने उसकाे दबाेच लिया।

आरोपी को फ्लाइट से लाना पड़ा सीकर

पुलिस ने जब फूलकुमार काे पकड़ा ताे उसके पास केवल एक छाेटा बैग था। बैग में उसने साेना रखा था। इसके अलावा ना ताे उसके पास काेई नकदी मिली और ना ही उसके पास काेई फाेन मिला। यहां पकड़ में आने के बाद फूलकुमार आनाकानी करने लगा ताे उसकाे फ्लाइट से सीकर लेकर आना पड़ा। इससे पहले आराेपी बार-बार अपने दाेस्त और रिश्तेदाराें काे लाेकेशन बदल-बदल कर बताता रहा। सीकर से फरार हाेने के बाद वह कहीं एक जगह नहीं रुका और छुपकर फरारी काटता रहा।

कई ज्वैलर्स ने दी थी पुलिस को रिपोर्ट

13 जुलाई काे ज्वैलर राधेश्याम ने रिपाेर्ट दी थी कि फूलकुमार 11 जुलाई काे मेरा 195 ग्राम, मुकेश सोनी का 108 ग्राम, नन्दकिशोर का 40 ग्राम, विनोद सोनी लालास का 180 ग्राम, शंकरलाल का 170 ग्राम, अरुण शर्मा 90 ग्राम, अजहर बंगाली का 40 ग्राम, राहुल सोनी का 80 ग्राम, महावीर चौधरी का 160 ग्राम, गजानन्द सोनी का 40 ग्राम, राजू सोनी का 40 ग्राम, महेन्द्र सोनी कांवट का 125 ग्राम, मोनू सोनी का 80 ग्राम, बप्पा बंगाली का 75 ग्राम और शरीफ बंगाली का 20 ग्राम साेना लेकर फरार हो गया है।

खबरें और भी हैं...