रेल मंत्री ने सैनिक एक्सप्रेस को दिखाई हरी झंडी:अब रोजाना सीकर से चलेगी ट्रेन, व्यापारियों के साथ सैनिकों को होगा फायदा

सीकर5 महीने पहले
ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर किया गया। - Dainik Bhaskar
ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर किया गया।

सीकर से दिल्ली चलने वाली सैनिक एक्सप्रेस ट्रेन अब रोजाना चलेगी। रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ट्रेन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान सीकर रेलवे स्टेशन पर सांसद सुमेधानंद सरस्वती, झुंझुनू सांसद नरेन्द्र कुमार ने भी हरी झंडी दिखाई। दैनिक रुप से चलने वाली इस ट्रेन से व्यापारियों के साथ-साथ सैनिकों को सफर करने में सुविधा होगी।

लम्बे समय से सीकर में इस ट्रेन को नियमित रुप से चलाने के लिए प्रयास किये जा रहे थे। सांसद सुमेधानंद सरस्वती ने ट्रेन को नियमित रुप से चलाने और लोगों को राहत पहुंचाने के लिए रेल मंत्री को इस ट्रेन को दैनिक रुप से चलाने के लिए निवेदन किया था। जिसके बाद आज जनता के लिए यह ट्रेन शुरू की गई।

ट्रेन से सबसे ज्यादा फायदा सैनिकों और व्यपारियों के साथ बाहर से आने वाले स्कूली छात्रों को होगा। सांसद सुमेधानंद ने बताया कि सीकर जिले को एजुकेशन हब कहा जाता है। यहां पर बड़ी संख्या में दूर दराज से छात्र पढ़ने के लिए आते हैं। ऐसे में इस ट्रेन के चालू होने से उनको और उनके परिजनों को आवागमन में काफी फायदा मिलेगा।

सांसद सुमेधानंद सरस्वती ने बताया कि सीकर से सबसे ज्यादा सैनिक सेना में अपनी सेवा दे रहे हैं। ऐसे में उनके आवागमन के लिए यह ट्रेन अमृत का काम करेगी। वहीं उन्होंने बताया कि त्रि साप्ताहिक चलने वाली यह ट्रेन अब रोजाना चलेगी। इसके साथ ही ट्रेन को दिल्ली स्टेशन तक कर दिया गया है। पहले यह ट्रेन दिल्ली सराय रोहिल्ला तक ही जाती थी। ऐसे में बाहर जाने वाले सैनिक सीधे दिल्ली स्टेशन तक पहुंचेंगे और वहां से उन्हें आगे का रास्ता तय करने में सुगमता मिलेगी।

कार्यक्रम में झुंझुनूं सांसद नरेन्द्र कुमार, जिला प्रमुख गायत्री कंवर, नगर परिषद चेयरमैन जीवण खां सहित कई गणमान्य लोग मौजूद रहे। रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने ट्रेन को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि सांसद सुमेधानंद लगातार ट्रेन के लिए प्रयास कर रहे थे। इसके साथ ही उन्होंने कई बार ट्रेन को दैनिक करने के लिए निवेदन भी किया। वहीं उन्होंने कहा कि सीकर से सबसे ज्यादा सैनिक सेना में अपनी सेवा दे रहे हैं। इसलिए इस ट्रेन को सैनिक एक्सप्रेस का नाम दिया गया है। उन्होंने कहा कि ट्रेन के जरिए सैनिकों, व्यापारियों, छात्र-छात्राओं को भी काफी फायदा मिलेगा।

ट्रेन सीकर से रात 10.25 बजे दिल्ली के लिए रवाना होगी। जो सुबह 4.45 बजे दिल्ली स्टेशन पहुंचेगी। इसके बाद रात 11 बजे ट्रेन दिल्ली से रवाना होकर सीकर पहुंचेगी। ऐसे में व्यापारी वर्ग के लोग एक ही दिन में अपना काम कर रात को वापस सीकर आ सकेंगे।