पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Officers Who Teach Innovations To Farmers Have Themselves Forgotten The Etiquette, In The DD Of The Atma Yojana And In The AD Of The Horticulture Department, You And I

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मीटिंग:किसानों को नवाचार सिखाने वाले अफसर खुद शिष्टाचार भूले, आत्मा योजना के डीडी व उद्यान विभाग के एडी में तू-तू मैं-मैं

सीकर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कलेक्टर बोले-दोनों चुप रहिए
  • मीटिंग में आत्मा योजना के डिप्टी डायरेक्टर गढ़वाल व उद्यान विभाग के एडी चौधरी में विवाद, दोनों ने एक दूसरे पर फील्ड में नहीं जाने के आरोप लगाए

आत्मा गवर्निंग बोर्ड की मीटिंग में कृषि और उद्यान विभाग के बड़े अधिकारी तू-तू, मैं-मैं पर आ गए। कृषि विभाग की आत्मा गवर्निंग बोर्ड की मीटिंग में कृषि में नवाचार को छोड़ कृषि व उद्यान विभाग के अफसर कलेक्टर अविचल चतुर्वेदी के सामने ही एक-दूसरे पर आरोप लगाने लगे। इन्हें चुप कराने के लिए कलेक्टर को भी तल्ख अंदाज में बोलना पड़ा। बोले-आप सब सुन लें। मीटिंग में अनावश्यक बात न करें। इससे मीटिंग का तरीका खराब होता है।

असल में, आत्मा योजना के डिप्टी डायरेक्टर सत्यनारायण गढ़वाल ने कलेक्टर से कहा कि सरकार की योजनाएं किसानों तक पहुंच नहीं पाती। क्योंकि-उद्यान विभाग के एडी बनवारीलाल चौधरी जिम्मेदारी से काम नहीं करते। यह फील्ड में भी नहीं जाते। एडी बनवारीलाल कहां चुप रहने वाले थे। बोले-गढ़वाल दूसरों को ज्ञान दे रहे हैं। यह खुद ही फील्ड में नहीं जाते।

इस कारण ही विभाग में लापरवाही सामने आ रही है। अगर यह आगे होकर काम करे तो हमें कोई दिक्कत नहीं होती। कलेक्टर ने कहा-सभी चुप रहिए। मेरी बात सुनो। दोनों अफसर आपस में उलझते रहे। कलेक्टर तल्ख हो गए और उन्हें बोलना पड़ा-दोनों चुप रहिए। आप नया काम शुरू करने से पहले आप निगेटिव सोचते हैं, इसलिए कोई काम सफल नहीं होता। अगली मीटिंग में एेसा ही दिखा तो बर्दाश्त नहीं होगा।

मीटिंग खत्म होने के बाद जैसे ही कलेक्टर निकले...दोनों अफसर फिर उलझ गए। दोनों तू-तू, मैं-मैं तक पहुंच गए। एडी बनवारीलाल ने डिप्टी डायरेक्टर गढ़वाल से पूछा-कलेक्टर के सामने आप क्या बोल रहे थे। अब बोलिए...। गढ़वाल ने जवाब दिया-तू चुप रह...काम तो कुछ करते नहीं हो...मीटिंग में आकर बयानबाजी करते हो...फिल्ड में जाते नहीं। मेरी गलती गिनाने से पहले अपना भी ध्यान रखो। मीटिंग में मौजूद अन्य अफसरों ने दोनों को रोकने की कोशिश की, लेकिन दोनों के बीच तकरार जारी रही। गढ़वाल ने जवाब दिया कि तू बाहर चला जा...। बहस बढ़ी तो बनवारी को मीटिंग हॉल से बाहर भेजा। तब मामला शांत हुआ।

आत्मा गवर्निंग बोर्ड की मीटिंग खत्म होने के बाद जैसे ही कलेक्टर निकले...दोनों अफसर फिर उलझ गए

कृषि विभाग की मीटिंग में जो कुछ हुआ, वह बेहद शर्मनाक है। क्योंकि-इस मीटिंग में पशुपालन विभाग, पलसाना डेयरी, कृषि विज्ञान केंद्र फतेहपुर, कृषि विपणन विभाग, महिला एवं बाल विकास विभाग (राजीविका), कृषि अनुसंधान केंद्र फतेहपुर शेखावाटी के अधिकारी भी मौजूद थे। आत्मा योजना का उद्देश्य किसानों को नवाचारों के लिए प्रेरित करना और बेहतर काम करने वाले किसानों को सम्मानित करना, लेकिन अफसर ऐसे लड़ेंगे तो ये किसानों को कतई नवाचार नहीं सिखा सकते। इन्हें सबसे पहले शिष्टाचार सिखाने की जरूरत है।

कलेक्टर ने सवाल उठाए...योजनाओं का लाभ घुमा-फिराकर कुछ चयनित किसानों को ही क्यों मिलता है?

1. कलेक्टर ने कहा-देखा यह जाता है कि कृषि से जुड़े अन्य संबंधित विभागों से योजनाओं का लाभ घुमा-फिराकर कुछ चयनित किसान ही प्राप्त करने में सफल होते हैं। यह कतई उचित नहीं है। 2. कलेक्टर ने कहा-खाटू मेले में स्टॉल लगाकर 250-300 किसानों को हर दिन बुलाकर कृषि योजनाओं की जानकारी देनी चाहिए। 3. कलेक्टर ने मीटिंग में कुछ अधिकारियों के नहीं आने पर नाराजगी जताई। बोले-तीन महीने में एक बार कृषि विभाग की मीटिंग होती है, उसमें भी अधिकारी नहीं पहुंच पाते। 4. कलेक्टर ने कहा-सीकर के किसानों के पास खूब ज्ञान है। उन्हें ज्ञान देने के बजाए दूसरे राज्य व जिलों में होने वाले कृषि के अच्छे प्रयोगों के बारे में भी जानकारी दें।

मीटिंग का माहौल खराब करते हैं एडी

एडी बनवारीलाल फील्ड में नहीं जाते। मीटिंग होते हैं तो झूठे आरोप लगाने लग जाते हैं। आरोप लगाने से पहले खुद का भी देखना चाहिए। इससे मीटिंग का माहौल खराब होता है।
सत्यनारायण गढ़वाल, डिप्टी डायरेक्टर, आत्मा योजना
घर में चार बर्तन होते हैं तो बजते ही है: घर में चार बर्तन होते हैं तो बजते ही है...कोई बड़ा मामला नहीं है। मैंने सिर्फ अपने मन की बात कही, वे गलत नाराज हुए। यह हमारे घर की बात है।
बनवारीलाल चौधरी, एडी, उद्यान विभाग

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आप प्रत्येक कार्य को उचित तथा सुचारु रूप से करने में सक्षम रहेंगे। सिर्फ कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा अवश्य बना लें। आपके इन गुणों की वजह से आज आपको कोई विशेष उपलब्धि भी हासिल होगी।...

    और पढ़ें