फोन पे के जरिए एक लाख ठगे:रानोली थाने के एंबुलेंस कंपाउंडर से फोन-पे पर एक लाख ठगे, साइबर ब्रांच में मामला दर्ज

सीकरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीड़ित कैलाश। - Dainik Bhaskar
पीड़ित कैलाश।

रानोली थाने की 108 एंबुलेंस के कंपाउंडर से फोन-पे पर एक लाख रुपए की ठगी हो गई। ठग ने कंपाउंडर को फोन पर लिंक भेजकर टुकड़ों में पैसे की ठगी को अंजाम दिया। कंपाउंडर के पास जब खाते से पैसे निकलनेे का मैसेज आया तो चकित रह गया।

उसने थानाधिकारी पदमपालसिंह को सूचना दी। एसएचओ ने साइबर क्राइम ब्रांच में ठगी का मामला दर्ज कराया। सभी ट्रांजेक्शन की डिटेल साइबर क्राइम ब्रांच जयपुर में भेजी है। साइबर थाने ने ऑनलाइन पूरे डाटा अपलोड किए तथा बैंक में ट्रांजेक्शन की जानकारी लेकर कार्रवाई शुरू कर दी।

थानाधिकारी ने बताया कि रानोली थाने की 108 पर कैलाश पीपलीवाल निवासी पिपराली रोड सीकर कंपाउंडर है। मंगलवार को सुबह करीब 10 बजे उसके पिता नरसीलाल ने उसे फोन कर कहा कि उसके पास 20 हजार रुपए आएंगे। कंपाउंडर ने पिता से कहा कि कहां से आएंगे तो बोले कि अपने किराएदार छात्रों के पिता धौलपुर से भेज रहे हैं, उसके बाद कैलाश के पास ठग का फोन आया कि धौलपुर से मीणा बोल रहा हूं, आपको 20 हजार रुपए फोन-पे कर रहा हूं जो मेरे बच्चों को दे देना।

इसके बाद ठग ने एक रुपया भेजा तो कंपाउंडर ने कहा कि एक रुपया आया है। जवाब में ठग बोला कि अब देखो 20 हजार आ गए हैं। कैलाश ने कहा नहीं आए। इसके बाद ठग ने कहा कि आपके पास एक मैसेज आया है, उसे ओपन करो। कंपाउंडर ने मैसेज का लिंक ओपन किया तो 10 हजार रुपए अकाउंट से कट गए। फिर दूसरा मैसेज 14999 रुपए कटने का आया। इस तरह एक लाख रुपए खाते से निकल गए।

खबरें और भी हैं...