पूरे विश्व में केवल भारत में आटे पर टैक्स:पीसीसी चीफ डोटासरा बोले - भाजपा के शासन में लोकतंत्र और संविधान पर खतरा

सीकर10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा। - Dainik Bhaskar
पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा।

केंद्र की मोदी सरकार के शासन में हालात इतने खराब हो गए हैं कि अब लोकतंत्र और संविधान पर भी खतरा उत्पन्न हो रहा है। पूरे विश्व में भारत ही एक ऐसा देश है जहां आटे पर भी केंद्र सरकार ने टैक्स लगा दिया है। केंद्र सरकार जनहित के मुद्दों पर बात करने को तैयार नहीं है। यह बात पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा ने कही। डोटासरा आज अपने सीकर के नवलगढ़ रोड स्थित आवास पर पत्रकारों से रूबरू हुए। जहां उन्होंने केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा।

डोटासरा क्रांति दिवस पर तिरंगे यात्रा की जानकारी दे रहे थे। डोटासरा ने कहा कि 9 अगस्त को क्रांति दिवस के मौके पर पार्टी हर ब्लॉक और जिले में तिरंगे के साथ 75 किलोमीटर की पदयात्रा करेगी। हर जिले में पार्टी के कार्यकर्ता 75-75 किलोमीटर पैदल यात्रा करेंगे। इसके बाद 15 अगस्त को पार्टी स्टेट लेवल का 1 सम्मेलन भी करेगी।

मोदी सरकार लोकतंत्र को कमजोर कर रही
डोटासरा ने कहा कि हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने तिरंगे की आन-बान और शान के लिए के लिए अपने प्राण न्यौछावर कर दिए और शहादत दी। वर्तमान में लोकतंत्र और संविधान को खतरा उत्पन्न हो गया है। केंद्र में बैठी मोदी सरकार संवैधानिक संस्थाओं को खत्म कर लोकतंत्र को कमजोर करने का काम कर रही है। लोकतंत्र पर आए दिन हमले हो रहे हैं। जहां हॉर्स ट्रेडिंग करके सरकारें गिराई जा रही है। ईडी इनकम टैक्स और सीबीआई जैसी संस्थाओं से राजनीतिक प्रतिशोध के आधार पर लोगों को परेशान किया जा रहा है।

भारत में आटे पर भी टैक्स
डोटासरा ने कहा कि बढ़ती महंगाई के चलते आज आजाद भारत में गरीब को दो वक्त की रोटी भी नहीं मिल पा रही है। आटा, दाल, चावल समेत तमाम चीजों पर महंगाई ने कब्जा कर लिया है। हद तो तब हो गई जब केंद्र सरकार ने आटा,मखाने और पनीर, दाल पर भी जीएसटी लगा दी है। पूरे विश्व में भारत ऐसा देश है, जहां तक आटे पर भी टैक्स है। डोटासरा ने कहा कि सत्ता में आने से पहले भाजपा ने वादा किया था कि हर साल दो करोड़ लोगों को नौकरी दी जाएगी। ऐसे में अब तक 16 करोड लोगों को नौकरी मिल जानी चाहिए थी। लेकिन अब हालात यह है कि केंद्र सरकार के विभागों में नौकरियां नही निकल रही है।

केंद्र सरकार हिटलर और तानाशाही का काम कर रही
देश में अब इस तरीके का माहौल बन गया है कि भाई को भाई से ही लड़ाने का काम होने लग गया है। हिटलर और तानाशाही के रूप में केंद्र सरकार काम कर रही है। ऐसे में कांग्रेस पैदल यात्रा से संदेश देगी कि हम लोग हमारे देश की अखंडता और एकता पर आंच नहीं आने दे। और केंद्र सरकार लोगों के मुद्दों पर काम करें। यदि वह ऐसा नहीं करती है तो उन्हें सत्ता में रहने का कोई हक नही है।