पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Pedestrians Coming From Delhi Haryana To Salasar Will Get Green Belt Facility, 15 Thousand Plants Will Be Installed In 27 Km Along The NH From Ramgarh To Churu

ग्रीन-वे प्रोजेक्ट:दिल्ली-हरियाणा से सालासर आने वाले पदयात्रियों काे मिलेगी ग्रीन बेल्ट की सुविधा, रामगढ़ से चूरू तक एनएच किनारे 27 किमी में लगेंगे 15 हजार पाैधे

सीकर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ग्रीन बेल्ट के लिए चयनित किया गया चूरू-सालासर-रामगढ़ मार्ग। - Dainik Bhaskar
ग्रीन बेल्ट के लिए चयनित किया गया चूरू-सालासर-रामगढ़ मार्ग।
  • मार्ग पर सूखे इलाके काे देखते हुए विभाग ने बनाई वन साइट ग्रीन बेल्ट तैयार करने की याेजना
  • प्राेजेक्ट काे स्वीकृति का इंतजार

एनएच-58 से हाेकर सिद्धपीठ सालासर धाम आने वाले पंजाब, हरियाणा व दिल्ली सहित देशभर के पदयात्रियों के लिए अच्छी खबर है। पदयात्रियों काे लंबी दूरी तक नंगे पांव धूप से हाेकर नहीं गुजरना पड़ेगा। क्याेंकि वन विभाग द्वारा एनएच 58 के किनारे रामगढ़ शेखावाटी से चूरू तक ग्रीन बेल्ट का प्राेजेक्ट तैयार किया है। इसमें 27 किमी तक राेड किनारे 15 हजार पाैधे लगाए जाएंगे। एनएचआई की मंजूरी मिलते ही मानसून सीजन में काम शुरू होगा।

डीएफओ भीमाराम चाैधरी के अनुसार पाैधराेपण का प्लान तैयार कर एनएचआई काे स्वीकृति के लिए भिजवाया जा चुका है। स्वीकृति मिलते ही राजमार्ग पर विभिन्न प्रजाति के 15000 छायादार पाैधे लगाए जाएंगे। इनमें छायादार पौधों का चयन किया जाएगा, ताकि राहगीरों को राहत मिल सके। वन विभाग द्वारा हाई-वे पर जिले में सबसे पॉल्यूशन मानते हुए पाैधराेपण का निर्णय किया है। क्याेंकि हाई-वे पर पाैधाें की संख्या काफी कम है।

रामगढ़ शेखावाटी से चूरू बाॅर्डर तक हाेगी हरियाली

वन विभाग ने फतेहपुर रेंज इलाके में राष्ट्रीय राजमार्ग-58 पर सीकर में प्रवेश के साथ रामगढ़ बॉर्डर से चूरू तक पाैधराेपण का प्लान बनाया है। रेंजर संदीप लाेयल ने बताया कि मंगलवार काे मार्ग पर फाेरेस्ट कर्मचारियों की टीम भेजकर पाैधराेपण के लिए सर्वे करवाया गया।

पदयात्रा मार्ग हाेगा सुगम पॉल्यूशन भी कम होगा

पाैधराेपण के बाद मार्ग से सालासर आने वाले पदयात्रियों का पैदल मार्ग सुगम हाेगा। श्रद्धालुओं काे धूप से परेशानी नहीं होगी। दूसरी तरफ हाई-वे पर लगातार वाहनाें के दबाव के साथ बढ़ रहे पॉल्यूशन से भी राहत मिलेगी। क्याेंकि हाई-वे पर काफी-दूरी-दूरी तक पाैधे नहीं हाेने से हरियाली कम है।

हाई-वे से हर साल गुजरते हैं 20 लाख से ज्यादा श्रद्धालु

सालासर के वार्षिक मेले नेशनल हाई-वे से हाेकर पंजाब, हरियाणा, दिल्ली समेत देशभर के विभिन्न स्थानाें से सालासर बालाजी धाम 20 लाख से ज्यादा श्रद्धालु जाते हैं। राष्ट्रीय राजमार्ग हाेने की वजह से सड़क मार्ग से पंजाब, हरियाणा, दिल्ली व राजस्थान के दाे दर्जन से ज्यादा श्रद्धालुओं का सालासर आवागमन हाेता है।

खबरें और भी हैं...