• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • People Are Not Afraid Of Getting Caught By The Virus, They Are Afraid Of The Police, Even After The Ban, People Are Roaming Freely In The Mosque Without Any Restrictions, Now The Police Will Strictly

संक्रमण से नहीं पुलिस से लगता है डर:पुलिस सामने दिखती है तो यहां-वहां छिपने लगते हैं लोग, गले में लटके मास्क को मुंह और नाक पर चढ़ाने लगते हैं, ये हैं सीकर में लोगों के हाल

सीकर7 महीने पहले
पुलिस का देख भागते लोग।

कोरोना वायरस संक्रमण से कई लोगों की मौत हो चुकी है। अस्पतालों में हालत खराब हो रही है। इसके बाद भी बहुत से लोग इसे गंभीरता से नहीं ले रहे। अभी भी वे पुलिस के डर से ही नियम को मान रहे हैं, यह जानते हुए कि एक दूसरे के संपर्क में आने से वायरस फैल रहा है। पुलिस अब पब्लिक की इस आदत के बाद और कड़ाई करने की तैयारी में है।

दरअसल जब से पांबदी शुरू हुई है, सीकर और अन्य कस्बों में पुलिस रास्तों पर घूम-घूमकर लोगों को घरों से बाहर नहीं निकलने के लिए समझा रही है। सोशल मीडिया समेत दूसरे साधनों से भयावह होते हालातों की जानकारी भी मिल रही हैं, लेकिन न तो लोग मॉस्क लगा रहे हैं और न ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कर रहे। जैसे ही पुलिस दिखती है, वे गले में लटके मास्क को ऊपर करने की कोशिश करते हैं। यहां वहां छिपने की कोशिश करते हैं।

खुद एसपी निकल रहे हैं गश्त पर

एसपी कुंवर राष्ट्रदीप शाम को रोजाना गश्त पर निकल रहे हैं, वे बजरग कांटा, क​ल्याण सर्किल, जाटा बाजार, मौहल्ला बिसायतियान, घंटाघर, बजाज रोड, मैना सदन होते हुए पुरानी कोतवाली इलाके में जाते है। इसके बाद कलेक्ट्रेट के सामने से नवलगढ़ पुलिया पिपराली चौराहा और बाइपास से घूमते हैं।

रोजाना पुलिस और ट्रैफिक का जाब्जा सड़कों पर खड़ा होकर बेवजह घूमने वालों की पहचान करते हैं, उनके चालान काटते है। यहां तक की गाड़ी भी सीज करते हैं, लेकिन इसके बाद भी लोग गंभीरता से नहीं ले रहे। जैसे ही पुलिस गश्त कर लौटती है, फिर लोग सड़कों पर दिखाई देने लगते हैं। एसपी राष्ट्रदीप का कहना है कि हालात लगातार गंभीर होते जा रहे हैं, ऐसे में हमारी तरफ से सख्ती में कोई ढिलाई नहीं है। जिला प्रशासन की ओर से यदि और सख्ती के आदेश मिलते हैं तो हम उसको अमल में ले आएंगे। फिलहाल लोगों को ही समझने की जरूरत है। इन हालातों में कैसे खुद को और परिवार को बचाएं।