पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गाड़ी रुला रही है:पेट्राेल-डीजल की कीमतों में बढ़ोतरी जारी, पेट्राेल 97.15 रुपए और डीजल की कीमत 89.41 रुपए

सीकर16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पेट्राेल की कीमतों में इजाफा लगातार जारी है। गुरुवार को पेट्रोल की कीमत 97.15 और डीजल के दाम 89.41 रुपए तक पहुंच गए। बुधवार को पेट्रोल की कीमत 96.80 रुपए थी। पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतें सीधे तौर पर आम आदमी की जेब पर असर डाल रही है।

इससे पूरी अर्थव्यवस्था प्रभावित होती है। प्रीमियम पेट्रोल की कीमत 100.97 रुपए और प्रीमियम डीजल 92.90 रुपए तक पहुंच गया।

सीकर जिले में हर दिन 3 करोड़ रुपए का पेट्रोल और चार से 5 करोड़ रुपए का डीजल बिकता है। सरकारें कीमतें बढ़ने का पूरा फायदा उठा रही है और लोगों की मजबूरी यह है कि उन्हें ज्यादा कीमतें होने के बाद भी पेट्रोल-डीजल खरीदना ही पड़ रहा है।

इसकी वजह है स्कूल-कॉलेज व ट्रांसपोर्ट शुरू होने के कारण तेल की बिक्री फिर से बढ़ गई है। लॉक डाउन के दौरान तेल की बिक्री में 80 प्रतिशत की गिरावट आ गई थी। एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर सीकर में भी कीमतों में इजाफा जारी रहा है तो श्रीगंगानगर की तरह यहां भी सामान्य पेट्रोल 100 रुपए के पार चला जाएगा। -जैसा कि उन्होंने भास्कर के संवाददाता को बताया।

तेल देखो, तेल की धार देखो 2021 में 20 से ज्यादा बार बढ़ चुकी हैं कीमतें
1. साल 2021 में अब तक तेल की कीमतें 20 से ज्यादा बार बढ़ाईं गई हैं। इस दौरान पेट्रोल 5 से 6 रुपए प्रति लीटर महंगा हो चुका है।
2. 18 फरवरी 2020 से तुलना करें तो पिछले एक साल में पेट्रोल 20.8 रुपए प्रति लीटर और डीजल 19.21 रुपए प्रति लीटर महंगा हो गया है।
3. जनवरी 2020 की तुलना में, जनवरी 2021 में पेट्रोल का रेट करीब 14 फीसदी ज्यादा है, जबकि इस दौरान ब्रेंट क्रूड का भाव करीब 14 फीसदी कम रहा है।

...तो किसने लगाई तेल में आग
1. ग्लोबल मार्केट में ब्रेंट क्रूड 40 डॉलर (अक्टूबर 2020) से बढ़कर 63 डॉलर प्रति बैरल के पार पहुंच गया है। सऊदी अरब ने कच्चे तेल के उत्पादन में प्रतिदिन 10 लाख बैरल की कटौती करने का ऐलान किया है। ओपेक देशों ने एक दिन में कच्चे तेल का उत्पादन 97 लाख बैरल कम करने का फैसला किया है। कम उत्पादन यानी ज्यादा कीमतें।
2. राजस्थान में पेट्रोल-डीजल पर लगने वाला वैट पंजाब, हरियाणा, यूपी, दिल्ली व गुजरात की तुलना में करीब 10 से 12 प्रतिशत ज्यादा है।
3. पिछले एक साल में केंद्र सरकार ने पेट्रोल पर एक्साइज ड्यूटी को 19.98 रुपए से बढ़ाकर 32.98 रुपए कर दिया है। इसी प्रकार डीजल पर एक्साइज ड्यूटी बढ़कर 31.83 रुपए पर पहुंच गया है। जनवरी 2020 में यह करीब 15.83 रुपए था। राज्य सरकार की ज्यादा वैट वसूल रही है। राज्य सरकार द्वारा लगाए जाने वाला वैट, एक्साइज ड्यूटी के उलट पेट्रोल या डीजल की कीमत पर लगता है इसकी मात्रा पर नहीं। यानी पेट्रोल-डीजल की कीमत जितनी ज्यादा होगी, राज्य सरकार को उतना ही ज्यादा राजस्व मिलेगा।

मेरी जेब पर कितना असर
मान लीजिए आप कार से सीकर से रींगस जाते हैं। यह सफर 51 किमी का हाेता है। 18 फरवरी 2020 को पेट्रोल की कीमत 76.35 रुपए थी। अगर आपकी कार 18 का माइलेज देती है तो आपके 213 रुपए खर्च होते थे। जबकि 18 फरवरी 2021 में आपको इस सफर के लिए 275 रुपए खर्च करने पड़ रहे हैं। यानी 62 रुपए ज्यादा खर्च करने पड़ रहे हैं।

  • सब्जियां भी महंगी हो सकती है। थोक-मूल्य सूचकांक में पेट्रोल-डीजल की हिस्सेदारी 5.8% होती है। डीजल महंगा होने के कारण रोडवेज भी कीमतों में इजाफा करने की तैयारी में है।
  • दो-तिहाई माल ढुलाई ट्रकों के जरिए होती है जो डीजल से चलते हैं। सामानों की कीमतों में इजाफा होगा। निर्माण व कृषि संबंधी कई गतिविधियों के लिए भी डीजल अहम है।
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- किसी विशिष्ट कार्य को पूरा करने में आपकी मेहनत आज कामयाब होगी। समय में सकारात्मक परिवर्तन आ रहा है। घर और समाज में भी आपके योगदान व काम की सराहना होगी। नेगेटिव- किसी नजदीकी संबंधी की वजह स...

    और पढ़ें