वीकेंड कर्फ्यू में जरूरी सेवाओं को छोड़ सब बंद:सीकर में सड़कों पर नजर आए पुलिसकर्मी, कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ की कार्रवाई

सीकर10 महीने पहले
बाजार में जरूरी सेवाओं को छोड़कर सभी दुकानें बंद रही, जिसके कारण सड़कें सूनी नजर आई।

कोरोना की तीसरी लहर के पहले वीकेंड कर्फ्यू का सीकर में प्रभावी असर देखने को मिला। बाजारों में जरूरी सेवाओं को छोड़कर अन्य दुकानें बंद रही। वहीं कई व्यापारियों ने स्वेच्छा से अपनी दुकानें बंद रखी। जिले के अधिकतर क्षेत्रों में सुबह से मुख्य चौराहों और सड़कों पर पुलिसकर्मी नजर आए। सीकर शहर में चप्पे-चप्पे पर पुलिसकर्मी तैनात है, जो कर्फ्यू की पालना नहीं करने वालों के खिलाफ कार्रवाई कर रहे हैं। आवश्यक सेवाओं के लिए घरों से निकले लोगों को जांच के बाद जाने दे रहे हैं।

वीकेंड कर्फ्यू में ऑटो ड्राइवर को पुलिसकर्मियों ने रोका और टायर की हवा निकाल दी।
वीकेंड कर्फ्यू में ऑटो ड्राइवर को पुलिसकर्मियों ने रोका और टायर की हवा निकाल दी।

शहर कोतवाल कन्हैया लाल ने बताया कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते खतरे के बीच राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के तहत रविवार को विकेंड कर्फ्यू है। शहर में कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले लोगों के खिलाफ सुबह से ही कार्रवाई शुरू कर दी गई है, जो दिन भर जारी रहेगी। साथ ही पुलिसकर्मियों द्वारा लगातार गली-मोहल्लों का दौरा कर लोगों से घरों में रहने के लिए समझाइश की जाएगी।

वीकेंड कर्फ्यू के कारण सब्जी की दुकान पर कम नजर आई भीड़।
वीकेंड कर्फ्यू के कारण सब्जी की दुकान पर कम नजर आई भीड़।

वीकेंड कर्फ्यू में इनको है छूट
राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन में वीकेंड कर्फ्यू में वैक्सीन लगवाने के लिए जाने वाले लोगों, लगातार प्रोडक्शन करने वाली फैक्ट्रियों के कर्मचारियों, हॉस्पिटल और मेडिकल, शादी समारोह के लिए जाने वाले लोग, बस स्टैंड और रेलवे स्टेशन पर जाने वाले यात्री और माल ढोने वाले वाहनों को छूट दी गई है। वीकेंड कर्फ्यू में इस बार स्ट्रीट वेंडर्स और थड़ी संचालकों को छूट नहीं दी गई है।

अहिंसा सर्किल पर तैनात पुलिसकर्मी।
अहिंसा सर्किल पर तैनात पुलिसकर्मी।
कर्फ्यू के चलते सूना पड़ा फतेहपुर का मुख्य बाजार।
कर्फ्यू के चलते सूना पड़ा फतेहपुर का मुख्य बाजार।