कोरोना लैब / रिपोर्ट जल्दी मिले, इसलिए 4 सैंपलों का पूल बनेगा, पॉजिटिव मिलने पर अलग-अलग जांच

Reports are received quickly, so a pool of 4 samples will be formed, separate investigation on getting positive
X
Reports are received quickly, so a pool of 4 samples will be formed, separate investigation on getting positive

  • सैंपलों की बढ़ती पेंडेंसी को लेकर व्यवस्था में बदलाव किया

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 06:16 AM IST

सीकर. कोरोना लैब में पेंडेंसी बढ़ गई है, क्योंकि तीन दिन में रिकॉर्ड सैंपल लिए गए हैं। फिलहाल 1471 सैम्पलों की जांच रिपोर्ट का इंतजार बना हुआ है। कोरोना लैब में सैंपलों की पेंडेंसी बढ़ने के चलते हॉस्पिटल प्रबधन ने जांच करने के तरीके में बदलाव किया है। कोरोना लैब में सैंपल जांचने की व्यवस्था शनिवार से बदल दी गई है। अब सैम्पलों के पूल बनाकर जांच करना शुरू किया है।

लैब में फ़िलहाल दो जांच मशीन लगी हुई है। दोनों मशीनों पर हर दिन 300 सैंपलों की जांच की जा रही थी। सैंपलों की संख्या बढ़ने के कारण पेंडेंसी बढ़ गई। जांच रिपोर्ट के लिए 2 दिन का इंतज़ार करना पड़ रहा था। सैंपल जांचने के तरीके में बदलाव इसलिए किया है कि फ़िलहाल जो सैंपल लिए जा रहे है, उनमें से डेढ़ फीसदी ही पॉजिटिव मिल रहे है। बाकी सैंपलों की जांच रिपोर्ट निगेटिव मिल रही है।
इस तरह होगी सैंपलों की जांच : 
एसके अस्पताल के पीएमओ डॉ. अशोक चौधरी का कहना है कि लैब में 4 सैंपलों का एक पूल बनेगा। इसमें चार संदिग्धों के सैंपल से स्वाब उठाया जाएगा। इसके बाद चारों का एक पूल बनाकर जांच के लिए मशीन में लगाया जाएगा। जांच में जो पूल पॉजिटिव मिलेगा, उसके चारों सैंपलों को अलग अलग जांचा जाएगा। इससे यह पता लग जाएगा कि कौनसा संदिग्ध मरीज पॉजिटिव है। इस तरह कोरोना पॉजिटिव ट्रेस कर इलाज शुरू किया जाएगा। जांच में समय कम लगेगा।
24 घंटे सैंपलों की जांच, स्टाफ बढ़ाया

 कोरोना लैब 24 घंटे संचालित है। 3 शिफ्ट में जांच का काम चल रहा है। सैंपलों की जांच की रफ़्तार बढ़ाने के लिए पुल बनाकर जांच करने का फैसला किया है। इसके अलावा लैब में स्टाफ की भी बढ़ोतरी की है। नर्सिंग स्टाफ की ड्यूटी लैब में लगाई है। इसके अलावा फील्ड से लैब टेक्नीशियनों को लगाया है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना