सरकार ने मांग मानी तो विजय सिंह बैंसला सीकर आए:बोले, नहीं मानते तो झालावाड़ या सवाईमाधोपुर की तरफ गुर्जर समाज कूच करता

सीकर2 महीने पहले
मंदिर में दर्शन करते हुए विजय सिंह बैंसला और उनके समर्थक।

गुर्जर आरक्षण संघर्ष समिति के अध्यक्ष विजय सिंह बैंसला आज सीकर जिले के रींगस में भैरू मंदिर में दर्शन करने के लिए पहुंचे। इससे पहले 13 नवंबर को इसी मंदिर में बैंसला ने भारत जोड़ो यात्रा के विरोध की बात कही थी। मंदिर में मीडिया से रूबरू होते हुए बैंसला ने कहा कि यदि सरकार मांगे नहीं मानती तो झालावाड़ या सवाईमाधोपुर की तरफ गुर्जर समाज कूच करता।

विजय सिंह बैंसला ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उनके मंत्रियों ने समाज की मांगे सुनी और उन्हें मान भी लिया है। इसके लिए मैं धन्यवाद करता हूं। 13 नवंबर को हमने इसी मंदिर में निर्णय किया था कि भारत जोड़ो यात्रा के खिलाफ विरोध की शुरुआत की जाएगी। जब तक अंतिम वार्ता हुई उससे पहले भी हमने यही सोचा कि यदि हमारी मांगे मान ली जाती है तो भैरू बाबा के मंदिर में होंगे वरना झालावाड़ यहां सवाईमाधोपुर कूच करेंगे। लेकिन सरकार ने हमारी मांगे मान ली है।

मंदिर में दर्शन के बाद गुर्जर समाज के लोगों ने विजय सिंह बैंसला का साफा और माला पहनाकर स्वागत भी किया।
मंदिर में दर्शन के बाद गुर्जर समाज के लोगों ने विजय सिंह बैंसला का साफा और माला पहनाकर स्वागत भी किया।

मंदिर में दर्शनों के बाद एडवोकेट अतर सिंह गुर्जर, भूरा भगत, जिला परिषद सदस्य राजपाल, एडवोकेट हनुमान सिंह गुर्जर, मंदिर पुजारी ग्यारसीलाल, हर्षराम सहित कई लोगों ने विजय सिंह बैंसला का साफा बांधकर और माला पहनाकर स्वागत भी किया।