पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Sikar Police Said May Be Gang War, Yet The Government Sent Junior Advocate For Lobbying, Raju Thahat Got 20 Days Parole

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:सीकर पुलिस ने कहा-गैंगवार हो सकती है, फिर भी सरकार ने जूनियर अधिवक्ता को पैरवी के लिए भेजा, राजू ठेहट को मिली 20 दिन की पैरोल

सीकर7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आनंदपाल गैंग से है दुश्मनी, 7 साल से जेल में बंद है, राज्य के टॉप 10 हार्डकोर अपराधियों की सूची में शामिल है ठेहट

सरकार की बड़ी लापरवाही से गैंगस्टर राजू ठेहट को हाईकोर्ट से 20 दिन की पैरोल मिल गई। सीकर पुलिस, सामाजिक न्याय और अधिकारिता विभाग ने ठेहट को पैरोल नहीं मिलने की अनुशंसा की थी। सीकर एसपी की ओर से पेश रिपोर्ट में कहा गया था कि शेखावाटी, नागौर और बीकानेर में गैंगवार बढ़ सकती है। ठेहट फरार भी हो सकता है, इसलिए किसी भी सूरत में पैरोल नहीं मिलनी चाहिए। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग ने भी यही दलील दी थी। इन गंभीर तथ्यों के बाद भी सरकार ने हाईकोर्ट में पक्ष रखने में लापरवाही बरती।

इतने गंभीर मामले में भी सरकार की ओर से गर्वमेंट काउंसिल पेश ही नहीं हुए। उनके जूनियर राजकीय अधिवक्ता ने सरकार का पक्ष रखा। जबकि हाईकोर्ट में सरकार की पैरवी के लिए अतिरिक्त महाधिवक्ताओं की बड़ी तादाद हैं। हालांकि राजकीय अधिवक्ता ने सरकार की ओर से पक्ष रखते हुए पैराेल का विरोध किया, लेकिन गर्वमेंट काउंसिल का ऐसे मामले में भी सरकार का पक्ष रखने के लिए नहीं होना सवाल खड़े करता है। मामले में कानूनी पहलुओं की जानकारी ली जा रही है।

एसपी डॉ. गगनदीप सिंगला का कहना है कि पुलिस को अलर्ट किया गया है। आईजी एस सिंगाथिर का कहना है कि राजू ठेहट गैंगस्टर व हार्डकोर अपराधी है। मामले में कानूनी सलाह ले रहे हैं। हम कोशिश कर रहे हैं कि यह जेल में ही रहे। सीकर एसपी ने गैंगवार की आशंका जताई थी। 

सीकर पुलिस ने जारी किया अलर्ट: ठेहट व आनंदपाल गैंग के बीच हो सकती है गैंगवार 
पुलिस क्यों राजू ठेहट को पैरोल मिलने के सख्त खिलाफ है। इसे समझने के लिए अपराध की कहानी समझनी होगी। साल 1997 में बलबीर बानूड़ा व राजू ठेहट दोस्त हुआ करते थे। दोनों शराब के धंधे से जुड़े थे। 2005 में शराब ठेके पर बैठने वाले सेल्समैन विजयपाल की राजू ठेहट से किसी बात पर कहासुनी हो गई।

पुलिस ने बताया कि राजू ने अपने साथियों के साथ मिलकर विजयपाल की हत्या कर दी। विजयपाल रिश्ते में बलबीर का साला लगता था। विजय की हत्या से दोनों दोस्तों में दुश्मनी शुरू हो गई। बलबीर ने राजू के गैंग से निकलकर अपना गिरोह बना लिया। बलबीर की गैंग में आनंदपाल भी शामिल हो गया।

आरोप है कि दोनों ने मिलकर गोपाल फोगावट की हत्या कर दी। दुश्मनी का खेल ऐसा चला कि 2016 में शेखावाटी में 15 से ज्यादा हत्याएं हुईं। दोनों ही गैंग्स ने जेल तक दुश्मनी निभाई। 26 जनवरी 2014 को सीकर जेल में राजू ठेहट पर हमला हुआ तो छह महीने बाद ही बीकानेर जेल में आनंदपाल और बलबीर पर। हमलों में राजू ठेहट व आनंदपाल तो बच गए, लेकिन बलबीर मारा गया। वहीं, आनंदपाल का 24 जून 2017 को एनकाउंटर हो गया।  

अब क्या : स्पेशल टीम रखेगी ठेहट पर नजर

राजू ठेहट की पैरोल मंजूर होने के बाद सीकर पुलिस ने अलर्ट जारी कर दिया है। ठेहट पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए एक स्पेशल टीम बनाई जाएगी। ठेहट सात साल से जेल में बंद है। दांतारामगढ़ पुलिस थाने का हिस्ट्रीशीटर है। रानोली थाने में 23 जून 2005 को दर्ज हुए हत्या के प्रयास के प्रकरण को लेकर राजू ठेहट को 15 अक्टूबर 2018 को आजीवन कारावास की सजा हुई थी। 

क्यों मिली जमानत : याचिका में कहा-7 साल जेल में बिताए, संतोषप्रद है व्यवहार
ठेहट के भाई हरलाल की ओर से दायर याचिका में बताया गया कि राजू ठेहट ने 7 साल जेल में बिताए हैं। नियमों की पालना की है और व्यवहार संतोषप्रद रहा है। हाईकोर्ट जस्टिस सबीना और जस्टिस सी के सोनगरा की खंडपीठ ने तर्कों से सहमत होते हुए 20 दिन की रेगुलर पैरोल पर रिहा करने के आदेश दे दिए। हालांकि रिहा करने के लिए जयपुर जेल अधीक्षक की संतुष्टि को जरूरी बताया है।

राजू ठेहट : पुलिस पेशी के दौरान ठेहट को बुलेट प्रूफ जैकेट में लाती रही है। पुलिस और क्यूआरटी के जवान तैनात रखे जाते रहे हैं। ठेहट पर 31 मामले दर्ज हैं और वह राज्य के टॉप 10 हार्डकोर अपराधियों की सूची में शामिल है। आरोप है कि ठेहट जेल से बैठकर गैंग को चलाता है। जबकि बाहर की कमान उसके भाई संभालते हैं।

आनंदपाल गैंग : गैंग को सुभाष बराल व लॉरेंस विश्नोई जेल से चला रहे हैं। लेडी डॉन अनुराधा चौधरी सीकर में व्यापारी के अपहरण मामले में गिरफ्तार हो चुकी है। कुलदीप चौधरी व विक्रम राठौड़ भी शामिल थे। शक्तिसिंह जमानत पर बाहर है। बलवीर बानूड़ा के बेटे सुभाष बानूड़ा के साथ शक्तिसिंह रह चुका है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उत्तम व्यतीत होगा। खुद को समर्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगे। अपने पारिवारिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने में सक्षम रहेंगे। आप कुछ ऐसे कार्य भी करेंगे जिससे आपकी रचनात्मकता सामने आएगी। घर ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser