उपलब्धि:बास्केटबॉल में NIS डिप्लोमा लेने वाली सबसे युवा खिलाड़ी बनीं सीकर की सुनीता

सीकरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिले की दांतारामगढ़ तहसील के चिड़ासरा गांव की सुनीता चौधरी सबसे कम उम्र 22 वर्ष में बास्केटबॉल में एनआईएस डिप्लोमा हासिल करने वाली खिलाड़ी बनी हैं। सुनीता ने ग्वालियर के लक्ष्मीबाई नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फिजिकल एजुकेशन से डिप्लोमा पूरा किया है। सुनीता का सपना है कि वह सीकर में रहकर बालिका बास्केटबॉल खिलाड़ियों के उत्थान के लिए काम करे, जिससे सीकर में महिला वर्ग में बास्केटबॉल खेल में अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों का सूखा खत्म हो।

सुनीता अपनी सफलता का श्रेय माता दुर्गा देवी व पिता सेनाराम एवं गुरु भूपेंद्रसिंह शेखावत को देती हैं। उन्हाेंने बताया कि राउमावि काशी का बास में 12वीं तक पढ़ाई की। यहां वे हर दिन बास्केटबाॅल खेलती थीं। इसके बाद स्वामी केशवानंद काॅलेज से ग्रेजुएशन किया ताे यहां उन्हें काेच भूपेंद्रसिंह ने ट्रेनिंग दी।

सीनियर नेशनल में राजस्थान का प्रतिनिधित्व कर चुकीं : सुनीता यूथ और सीनियर नेशनल बास्केटबॉल में राजस्थान का प्रतिनिधित्व कर चुकी हैं। इसके साथ ही शेखावाटी यूनिवर्सिटी की टीम में भी रह चुकी हैं। उन्होंने कई राज्य प्रतियोगिताओं में सीकर को मेडल दिलाए हैं। सुनीता राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी भी रह चुकी हैं। सुनीता शेखावाटी की पहली महिला खिलाड़ी हैं, जिसने बास्केटबॉल में सरकारी मान्यता प्राप्त कोच की डिग्री पूर्ण की है।

खबरें और भी हैं...