• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • SK Hospital's OPD Was 1500 2000 Per Day, More Than 30 Patients Of Dengue, Malaria Are Being Admitted Daily In Two Hospitals Of Sikar.

कोरोना के बाद अब मौसमी बीमारियों का खतरा:5 से 16 साल तक के बच्चे ज्यादा बीमार,एसके अस्पताल में हर दिन 100 में से 20-30 बच्चे डेंगू-मलेरिया के भर्ती​​​​​​​

सीकर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में भर्ती बच्चा। - Dainik Bhaskar
अस्पताल में भर्ती बच्चा।

कोरोना के बाद क्षेत्र में मौसमी बीमारियों का खतरा मंडराने लगा है। सीकर के सबसे बड़े कल्याण अस्पताल का ओपीडी पहले की तुलना में दोगुना हो चुका है। सबसे ज्यादा 5 से 16 साल तक के बच्चे बीमार है। प्रतिदिन 30 से अधिक बच्चे भर्ती हो रहे हैं।

कल्याण राजकीय अस्पताल के मेडिसिन आउटडोर के डॉ. विकास ने बताया कि पहले आउटडोर 500-700 का रहता था। पिछले 15-20 दिनों में बढ़कर यह 1500- 2000 तक पहुंचा चुका हैं। पेट दर्द, हाथ-पैर दर्द, सर्दी जुकाम आदि के मरीज ज्यादा आ रहे हैं। डॉक्टर ने बताया कि यह सभी लक्षण वायरल बुखार के हैं। अभी डेंगू भी ज्यादा फैल रहा है। लक्षण नजर आते ही डॉक्टर से परामर्श लेकर जांच कराएं।

8-10 बच्चे हर दिन भर्ती हो रहे
कल्याण चिकित्सालय के शिशु विभाग के डॉ.अशोक कुमार ने बताया कि ओपीडी 1500- 2000 व्यक्ति प्रतिदिन आ रहे हैं। जिसमें बच्चों का ओपीडी औसत 100 है। मौसमी बीमारियों के करीब 8-10 मरीज बच्चे प्रतिदिन अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं। डॉ. अशोक ने बताया कि राजकीय जनाना अस्पताल में भी प्रतिदिन बच्चों की ओपीडी 100 से ज्यादा है। जिनमें 5 से 16 वर्ष तक के बच्चे ज्यादा है। जिनमें 20 से 30 बच्चे प्रतिदिन भर्ती हो रहे हैं। शादी दोनों अस्पतालों में अभी तक मौसमी बीमारियों से कोई कैजुअल्टी नहीं हुई है और ना ही किसी मरीज को रैफर किया गया है।

रजिस्ट्रेशन के लिए लगी लम्बी कतार।
रजिस्ट्रेशन के लिए लगी लम्बी कतार।

पर्ची के लिए 2 घंटे तक का करना पड़ा इंतजार

मौसमी बीमारियां बढ़ने के साथ ही आउटडोर में भी मरीजों की संख्या दुगुनी हो गई हैं। 10 से 15 दिनों से ओपीडी के बाहर रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए मरीजों के परिजनों की लंबी कतार देखी जा सकती है। परिजनों का कहना है कि उन्हें पर्ची लेने के लिए डेढ़ से दो घंटे का इंतजार करना पड़ रहा है।

खबरें और भी हैं...