पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रामलीला पठन:केवट के साथ श्रीराम, सीता और लक्ष्मण नाव से गंगा पार हुए, राम वह सब करते हैं, जैसा केवट चाहता है

सीकरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस बार मंचन नहीं होगा, इसलिए रामलीला पढ़िए

मांगी नाव न केवटु आना। कहइ तुम्हार मरमु मैं जाना॥ चरन कमल रज कहुं सबु कहई। मानुष करनि मूरि ।। भावार्थ : श्रीराम ने केवट से नाव मांगी, पर वह लाता नहीं है। वह कहने लगा- मैंने तुम्हारा मर्म जान लिया। तुम्हारे चरण कमलों की धूल के लिए सब लोग कहते हैं कि वह मनुष्य बना देने वाली कोई जड़ी है। वह कहता है कि पहले पांव धुलवाओ, फिर नाव पर चढ़ाऊंगा।

सांस्कृतिक मंडल की ओर से अयोजित नवाह्नपारायण में भगवान राम का राज्याभिषेक कि तैयारी एवं वन गमन के प्रसंग काे कहा गया। रैवासा पीठाधीश्वर राघवाचार्य महाराज ने प्रसंग कि व्याख्या करते हुए कहा कि रामायण एक उच्च आदर्शों से ओतप्रोत महान धार्मिक ग्रंथ है। उसमें भक्ति, नीति, न्याय, आध्यात्म व मानवीय मूल्यों के अतिरिक्त व्यापक रूप में सामाजिक चेतना भी विद्यमान है। न तो मानस में हमें छुआछूत दिखाई देता है,न ही वर्णगत/जातिगत भेदभाव।

रघुकुल नंदन श्रीराम हर जाति/वर्ग के व्यक्ति को गले लगाते हैं। उसी श्रेणी में मल्लाह केवट का नाम भी शामिल है। केवट भोईवंश का था तथा मल्लाह का काम करता था। केवट रामायण का एक खास पात्र है ,जिसने प्रभु श्रीराम को वनवास के दौरान माता सीता और लक्ष्मण के साथ अपनी नाव में बिठाकर गंगा पार करवाया था। केवट का वर्णन रामायण के अयोध्याकाण्ड में किया गया है। केवट चाहता है कि वह अयोध्या के राजकुमार को छुए। उनका सान्निध्य प्राप्त करें।अपने संपूर्ण जीवन की मजूरी का फल पा जाए।

राम वह सब करते हैं, जैसा केवट चाहता है। उसके श्रम को पूरा मान-सम्मान देते हैं। भगवान श्री राम त्रेता युग की संपूर्ण समाज व्यवस्था के केंद्र में हैं, इसे सिद्ध करने की जरूरत नहीं है। त्रेता के संपूर्ण समाज में केवट की प्रतिष्ठा करते हैं। इस प्रकार केवट की महत्ता व मान्यता स्थापित होती है। केवट जयन्ती पर राम-केवट प्रसंग हमें भावविभोर कर देता है। यह प्रसंग हमेें सामाजिक समानता का आदर्श सिखाता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने आत्मविश्वास व कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे और सफलता भी हासिल होगी। घर की जरूरतों को पूरा करने में भी आपका समय व्यतीत होगा। किसी निकट संबंधी से...

और पढ़ें