पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस के हाथ जोड़कर गिना रहे मजबूरी:किराए की दुकान लेकर बच्चों को पढ़ाया, पहले दुकान बंद कर दी अब चालान काट दिया; पैसे कहां से लाऊं

सीकर2 महीने पहले
सख्ती दिखाई तो लोग बिलख पड़े

रेड अलर्ट स्वअनुशासन पखवाड़े में पुलिस ने सख्ती दिखाई तो लोग बिलख पड़े, जैसे ही पुलिस ने वाहनों को रोककर कारण पूछा और साइड में लेने को बोला, पैरो में गिर गया। पुलिसकर्मी भी दूर हट, हमारे बीमारी लगाएगा क्या! कहकर उसे फटकारते है, वह गिडगिड़ाने लगता है। कभी बाहर निकलने को मजबूरी बताता है तो कभी जिम्मेदारी। इस दौरान लोग कहते रहे की बच्चों को पढ़ाने के लिए दुकान किराए पर ली थी। लॉकडाउन में वो बंद हो गई। अब आप भी चालान काट रहे हो। आखिर पैसे कहां से लाऊं।

पुलिस की सख्ती के आगे लोग ऐसे ही बाहर निकलने की बेबसी बता रहे हैं। हालांकि पुलिस ने कल भी कई वाहनों को सीज किया था वहीं कई लोगों के चालान काटे थे। वैसे ही आज पुलिस ने जल्दी ही सुबह दस बजे मोर्चा संभाल लिया था। वाहनों को रोककर बाहर निकलने की वजह पूछते रहे।

मौजूद पुलिसकर्मियों का कहना है कि सब को पता है कि बाहर नहीं निकलना है। इसके बाद भी सिर्फ ये देखने के लिए आते हैं कि क्या माहौल है। जब पकड़ में आते है तो चालान का डर लगता है। बहाने लगाते हैं। ऐसे ही लोगों को पहचान कर गाड़ियां पकड़ रहे है।

खबरें और भी हैं...