पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सनकी का खूनी खेल:14 साल के चचेरे भाई की गर्दन काटी, खून बहता रहा और लोग वीडियो बनाते रहे

सीकर/दांतारामगढ़3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बड़ों की रंजिश के जख्म का दर्द मौत के बाद भी चेहरे पर - Dainik Bhaskar
बड़ों की रंजिश के जख्म का दर्द मौत के बाद भी चेहरे पर
  • पाेषाहार दिलाने के बहाने दो चचेरे भाइयों को घर से ले गया, बाजार में बड़े का गला रेता, छोटे ने भागकर बचाई जान
  • पारिवारिक रंजिश : युवक बाेला-बचपन में चाचा के तानों से पढ़ाई में कमजोरी रही, इसलिए बेटे काे मार डाला
  • अंधविश्वास : मैं पटवारी बनाना चाहता था, चाचा ने जादू-टाेना किया, इस वजह से नहीं लगी नाैकरी

करड़ गांव में शुक्रवार को दिल दहला देने वाली घटना हुई। 21 साल के कैलाशचंद रैगर ने चार दर्जन लोगों के सामने 10 साल चचेरे भाई उत्तम रैगर की ब्लेड से गला रेत कर हत्या कर दी। लहुलुहान उत्तम 10 मिनट तक रोड पर तड़पता रहा। मौजूद भीड़ घायल को अस्पताल ले जाने की बजाय वीडियो बनाती रही। आराेपी कैलाशचंद पुत्र मंगलचंद रैगर ने अपने चचेरे भाई उत्तम काे मारने का प्लान दिन में ही बना लिया था। 1 घंटे पहले वह गांव की ही दुकान से दाे ब्लेड खरीद कर लाया। इसके बाद चचेरे भाई उत्तम और उसके 7 साल के छाेटे भाई काे स्कूल से पाेषाहार दिलाकर लाने की बता कहकर साथ ले गया।

दोपहर करीब डेढ बजे घर से थाेड़ी दूर पटवार घर के पास उत्तम काे पकड़ लिया और मारपीट करने लगा। यह देखकर उत्तम का 7 साल का छाेटा भाई भाग गया। यहां से 30 मीटर दूर राशन डीलर की दुकान व अन्य दुकानों पर बैठे लोग बच्चों की लड़ाई समझकर छुड़ाने नहीं आए और वीडियो बनाने लगे। लेकिन जब कैलाश ने उत्तम का ब्लेड से गला रेत दिया तो उत्तम वहीं गिर गया और खून निकलने लगा। इस पर लोग दौड़कर आए और आरोपी को पकड़ लिया। यहां कई लोग उसका वीडियाे बनाते रहे, लेकिन किसी ने बच्चे को उठाया तक नहीं। वह तड़पता रहा और उसकी जान चली गई।

हर चश्मदीद, हत्या का दोषी : बच्चे सबके होते हैं, फिर क्यों इस मासूम काे देखकर भी नहीं पसीजे मौके पर मौजूद ‘पत्थर’

भीड़ वीडियो बनाती रही और आरोपी ने मासूम का गला रेत दिया।
भीड़ वीडियो बनाती रही और आरोपी ने मासूम का गला रेत दिया।

शिकन तक नहीं, पुलिस से बाेला-मैस में रख लाे
घटना के बाद आराेपी कैलाशचंद काे हिरासत में ले लिया गया। उसके चेहरे पर चचेरे भाई की हत्या की शिकन तक नहीं थी। पुलिस पूछताछ में उसने कहा, मुझे थाने पर ही मैंस में रख लो। शनिवार काे पुलिस मृतक के बयान के दर्ज करेगी। शव को खाचरियावास सीएचसी में रखवाया।

दोनों परिवारों में आपस में हाेती रहती थी कहासुनी और विवाद
कैलाशचंद और उत्तम का परिवार एक ही जगह पर रहते हैं। दाेनाें के पास में छाेटे-छाेटे कमरे बने हुए हैं। दाेनाें के पिता शराब पीते हैं। अक्सर दाेनाें परिवारों के बीच गाली गलाैच और झगड़ा होता रहता था। इसी वजह से दाेनाें परिवार एक दूसरे से रंजिश रखते थे। दाेनाें परिवाराें के बीच जादू टाेने की बात भी सामने आ रही है। कैलाशचंद भी पिछले दाे साल से दवा ले रहा था।
पढ़ाई में पिछड़ने पर रखने लगा रंजिश

थानाधिकारी हिम्मत सिंह ने बताया कि करड़ में दिनदहाड़े नाबालिग बालक की हत्या के आरोप में उसके चचेरे भाई कैलाश चंद पुत्र मंगलचंद रैगर को हिरासत में ले लिया है। पूछताछ में युवक ने बताया कि जब वह पढ़ता था तो उसके चाचा गोपाल लाल उसको धमकाता था, कि तू क्यों पढ़ रहा है। तेरे को नहीं पढ़ना है। मुझे चाचा बचपन से ही धमकाता था। इसलिए उसके बेटे को मार दिया।

बदला लेने के लिए ली मासूम की जान

एसपी कुंअर राष्ट्रदीप ने बताया कि अपने चाचा से बदला लेने के लिए आराेपी ने चचेरे भाई की हत्या की है। जिसकाे पुलिस ने पकड़ लिया है। ताकि घटनाक्रम के बारे में पूछताछ की जा सके। मृतक उत्तम परिवार में पांच बहनों से छोटा व भाई से बड़ा था। वह पांचवी कक्षा में पढ़ता था।

ऐसी कुंठित मानसिकता के लोग समाज के वायरस

आरोपी कैलाशचंद (21)
आरोपी कैलाशचंद (21)

आरोपी बोला-बालाजी की भक्ति से होशियार हुआ
घटना के बाद एक वीडियो में आरोपी कह रहा है 5वीं कक्षा में वह बहुत कमजोर था। उसे पता था कि नौकरी नहीं लग सकता। इसलिए बालाजी की भक्ति की। इससे होशियार हुआ। इसके बाद 12वीं में दूसरे स्थान पर रहा। फर्स्ट ईयर, सैकंड ईयर में ठीक रहा। हां मैने ही ब्लेड से मारा है।
मानसिक बीमार या चालाक
1. पुलिस के आने पर आरोपी हंस रहा था। पूछने पर कहा कि मेरी दुश्मनी थी, इसलिए मैने मार दिया। वारदात के बाद युवक ने भागने की काेशिश तक नहीं की।
2. वारदात के बाद हत्या के आरोपी ने कहा, वह 12वीं में दूसरे स्थान पर रहा, जबकि हकीकत में उसके 46 फीसदी अंक थे। वह पटवारी बनना चाहता था।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- ग्रह स्थिति अनुकूल है। मित्रों का साथ और सहयोग आपकी हिम्मत और हौसले को और अधिक बढ़ाएगा। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी काबू पाने में सक्षम रहेंगे। बातचीत के माध्यम से आप अपना काम भी निकलवा लेंगे। ...

    और पढ़ें