जमीन विवाद का मामला:परिवादी ने पुलिस पर लगाया मामला दर्ज नहीं करने व मारपीट का आराेप

सीकर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मामले में परिवादी ने एएसआई भवानीशंकर पर आराेप लगाया कि उनके साथ मारपीट की।(सांकेतिक तस्‍वीर) - Dainik Bhaskar
मामले में परिवादी ने एएसआई भवानीशंकर पर आराेप लगाया कि उनके साथ मारपीट की।(सांकेतिक तस्‍वीर)
  • पीड़ित ने एसपी के सामने पेश होकर जांच अधिकारी बदलने की मांग की

लाेसल थाना क्षेत्र में एक प्लाॅट विवाद में दाे पक्षाें में कब्जे काे लेकर आपसी विवाद चल रहा है। बाउंड्रीवाॅल काे ताेड़ कब्जा करने के मामले में जब परिवादी हीरालाल व उसके ससुर सेवानिवृत्त कैप्टन गाेविंदराम लाेसल थाना में एफआईआर करवाने पहुंचे ताे पुलिस ने परिवादी काे ही शांतिभंग में गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में परिवादी हीरालाल व गाेविंदराम ने एएसआई भवानीशंकर पर आराेप लगाया कि उन्हाेंने उनके साथ बदसलूकी की और 151 में गिरफ्तार कर मारपीट की। मामले में परिवादी ने एसपी के सम्मुख पेश हाेकर मामले की जांच अन्य अधिकारी को दिलवाने की मांग की है।

पीड़ित हीरालाल भाकर पुत्र रामचंद्र भाकर निवासी शाहपुरा-धाेद के लाेसल स्थित प्लाॅट की बाउंड्रीवाॅल ताेड़ कब्जा करने के मामले में एक सितंबर काे लाेसल थाना पहुंचा ताे पुलिस माैके पर गई। पीड़ित ने आराेप लगाया कि एएसआई भवानीशंकर ने उसे फाेन पर कहा कि तुम एफआईआर करवाने मत आना। हीरालाल ने बताया कि दो अक्टूबर काे वह अपने ससुर सेवानिवृत्त कैप्टन गाेविंदराम पुत्र जीवणराम निवासी लाेसल के साथ मामला दर्ज करवाने लाेसल थाना पहुंचा।

वहां उसे व उसके ससुर गाेविंदराम काे 151 में गिरफ्तार कर मारपीट करते हुए गाली-गलाैच कर अभद्र व्यवहार किया। देर रात उन्हें एसडीएम के समक्ष पेश किया। चार अक्टूबर काे पीड़ित का मामला दर्ज किया गया। मामले की जांच भी एसएचओ सज्जनकुमार ने एएसआई भवानीशंकर काे ही दे दी। इस पर पीड़ित हीरालाल ने एसपी कुंवर राष्ट्रदीप के सम्मुख पेश हाेकर जांच अन्य अधिकारी से कराने की मांग की है। पीड़ित ने पुलिस पर दूसरे पक्ष से मिले हाेने का आराेप भी लगाया। हीरालाल ने आराेप लगाया कि हम एसपी के सम्मुख पेश हुए और मामला बिगड़ता देख पुलिस ने सामने वाले पक्ष का पांच अक्टूबर काे मामला दर्ज किया।

मारपीट के आरोप निराधार : एएसआई
मामले में एएसआई भवानीशंकर का कहना है कि धन्नी देवी पत्नी गाेविंदराम ने रामनिवास तेतरवाल काे प्लाॅट बेचा था। रामनिवास जमीन कम बताते हुए बाउंड्रीवाॅल कर रहा था। हीरालाल व रामनिवास दाेनाें पक्षाें के बीच दाे-तीन माह से उक्त जमीन काे लेकर विवाद चल रहा था। हमने हीरालाल भाकर, गाेविंदराम व रामनिवास तेतरवाल तीनाें काे विवाद करने पर शांतिभंग में गिरफ्तार किया था। मारपीट के आराेप ताे काेई भी लगा सकता है।

खबरें और भी हैं...