• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • The Girl Reached The Police Station Only After The Case Was Registered In The Rape Case, After Getting The Medical Done, Action Will Be Taken On The Outpost In charge After The Statement Of The Female Constable.

चौकी में रेप करने वाला हेडकांस्टेबल लाइन हाजिर:चौकी में रेप मामले में मुकदमा दर्ज होने के बाद ही थाने पहुंची युवती, मेडिकल कराने के बाद महिला कांस्टेबल के बयान के बाद होगी चौकी प्रभारी पर कार्रवाई

सीकरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपी हेडकांस्टेबल सुभाष। - Dainik Bhaskar
आरोपी हेडकांस्टेबल सुभाष।

प्रेमी के साथ भागने वाली युवती को लेकर आने वाले धोद थाने के चौकी प्रभारी पर छेड़छाड़ और रेप के गंभीर आरोप के बाद पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया है। पीड़िता एसपी को परिवाद देने के चार दिन बाद तक नहीं आई, लेकिन जैसे ही मुकदमा दर्ज हुआ बयान देने और मेडिकल के लिए पीड़िता थाने पहुंच गई। मुकदमा दर्ज होते ही चौकी प्रभारी को लाइन हाजिर कर दिया है।

युवती का कहना है कि वह बालिग है और 12 अगस्त को अपने प्रेमी संग श्रीगंगानगर गई थी। जबकि उसके परिजनों ने थाने में लापता होने का मुकदमा दर्ज करा दिया था। लापता होने के मामले की जांच धोद थाने की सिंगरावट चौकी प्रभारी हेड कांस्टेबल सुभाष कर रहे थे। सूचना मिली थी कि युवती रायसिंहनगर में है। उसे लेने के लिए सुभाष कार और ड्राइवर लेकर रायसिंहनगर पहुंच गए।

वहां से स्थानीय थाने की मदद से युवती को बरामद कर लिया। धोद इलाके की महिला कांस्टेबल को साथ लेकर सुभाष कुमार कार में 28 अगस्त की रात को लौट गए। 29 अगस्त को करीब चार बजे चौकी पर पहुंचे। युवती का कहना है कि कार में ही हेड कांस्टेबल ने उसके साथ छेड़छाड़ करनी शुरू कर दी थी। डराने के लिए वह युवक को जेल भेजने और सजा दिलाने की धमकी दे रहा था।

युवती का कहना है कि चौकी में पहुंचने के बाद उसके साथ रेप किया। जबकि हेड कांस्टेबल सुभाष का कहना है कि चौकी के नजदीक एक मां और बेटी रहती है। युवती को उनके पास ठहराया था। सुबह युवती ने परिजनों के आने के बाद प्रेमी के साथ जाने की कहकर चली गई।

एक दिन बाद प्रेमी के साथ युवती एसपी के साथ पहुंची और परिवाद दिया। परिवाद में उसने हेड कांस्टेबल पर छेड़छाड़ करने और रेप करने के आरोप लगाए। चौकी प्रभारी पर गंभीर आरोप देखते हुए एसपी कुंवर राष्ट्रदीप ने मामले की जांच सीओ राजेश आर्य को सौंपी। सीओ युवती को फोन करते तो उसका प्रेमी फोन उठाता। बयान के लिए बुलाने पर टालमटोल करता।

एसपी ने परिवाद पर ही मुकदमा दर्ज करने की करते हुए कार्रवाई करने को कहा। 5 सितंबर की रात को मुकदमा दर्ज हो गया। इसका जांच अधिकारी लोसल थानाधिकारी को बनाया। इसके बाद एसपी ने चौकी प्रभारी सुरेंद्र को लाइन हाजिर कर दिया। युवती को इस बारे में बताया और मेडिकल कराने और बयान के लिए बुलाया। सुबह प्रेमी के साथ ही युवती मेडिकल कराने पहुंची। वहीं उसके बयान भी दर्ज हो गए।

पुलिस अब युवती के साथ आने वाली महिला कांस्टेबल के बयान लेगी। चौकी के नजदीक रहने वाली मां बेटी से भी पूछताछ कर उस रात हुए घटनाक्रम की जानकारी जुटाने में लग गई है। वहीं चौकी में दो कांस्टेबल की भी ड्यूटी थी। उनसे भी पूछताछ की जाएगी।

खबरें और भी हैं...