पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • The New Building Bylaws Of The Department Of Autonomous Government Will Benefit, The Map Will Have To Be Approved By The Registered Architect, Will Be Able To Build On A Plot Of 500 Square Meters, Permission Will Not Be Taken From The Council

नियमों में राहत:स्वायत्त शासन विभाग के नए बिल्डिंग बॉयलाज से मिलेगा फायदा, रजिस्टर्ड आर्किटेक्ट से अनुमोदित कराना होगा नक्शा, 500 वर्गमीटर के प्लॉट पर कर सकेंगे निर्माण, परिषद से नहीं लेनी होगी अनुमति

सीकर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

स्वायत्त शासन विभाग द्वारा भवन मानचित्र अनुमोदन की प्रक्रिया काे आसान बनाया गया है। नए बिल्डिंग बॉयलाज के तहत लाेगाें काे नक्शा अनुमाेदन के लिए बार-बार नगर परिषद के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे। अब 500 वर्ग मीटर तक के प्लॉट पर निर्माण के लिए नक्शा पास करवाने की जरूरत नहीं होगी। सरकार से रजिस्टर्ड आर्किटेक्ट से नक्शा अनुमोदित कराकर निर्माण शुरू किया जा सकेगा। इसके लिए उस व्यक्ति को केवल अनुमोदित नक्शा और शुल्क का ड्राफ्ट जमा कराना होगा। पहले यह छूट केवल 250 वर्ग मीटर के प्लॉट पर ही थी।

नए आदेशाें के तहत आर्किटेक्ट को भूखंड के अक्षांतर-देशांतर के अनुसार गूगल मैप पर भूखंड की लोकेशन बतानी हाेगी। योजना एवं नगर परिषद द्वारा जारी लीजडीड/पट्टा प्रकरणों के अतिरिक्त स्वामित्व संबंधित दस्तावेजों का प्रमाणीकरण कराना हाेगा। प्रमाणीकरण बार कांउसिल ऑफ इंडिया द्वारा पंजीकृत अधिवक्ता से कराना जरूरी हाेगा। सैट बैक व भवन की प्रस्तावित ऊंचाई व मंजिलों की संख्या बतानी हाेगी। व्यवसायिक भूखंडों में पार्किंग प्लान दर्शाना हाेगा। आवेदक का प्रावधानों की अनुपालना किए जाने का घोषणा पत्र और शपथ पत्र देना हाेगा। लीज और विकास कर की जमा की रसीद के साथ भवन मानचित्र अनुमोदन से संबंधित राशि नगर परिषद के बैंक खाते में ऑनलाइन या ऑफ लाइन जमा होने की रसीद देनी हाेगी।

आवेदक का भवन विनियम अनुसार देय शुल्क के संबंध में मांग पत्र देना होगा। डिमांड नोट का चालान आवेदक को जारी करने के साथ आर्किटेक्ट को उसके द्वारा जमा करवाए गए दस्तावेज प्राप्ति की स्वीकृत सूचना देनी होगी। 500 वर्गमीटर से अधिक ऊंचाई के भवनों के लिए अलग प्रावधान है।

500 से 2500 वर्गमी. तक के भूखंडों के लिए प्रक्रिया तय

एक लाख से अधिक जनसंख्या वाले शहराें के लिए 18 मीटर की ऊंचाई तक 500 से 2500 वर्ग मीटर क्षेत्रफल तक के समस्त भू-उपयोग के भूखंडों के लिए भी नगरीय विकास विभाग ने प्रक्रिया तय कर दी है। बिल्डिंग बाॅयलाज के नियम 6 के अनुसार 500 से 2500 वर्ग मीटर क्षेत्रफल तक के समस्त भूउपयोग के भूखंडों पर विनियम 19 व 20 के तहत पंजीकृत वास्तुविद तथा भवन मानचित्र अनुमोदन के बाद देय राशि व दस्तावेज जमा कराने पर भवन निर्माण शुरू करने के लिए डीम्ड अनुमोदित माना जाएगा।

बिल्डिंग बॉयलाज के तहत नए निर्देश प्राप्त हुए हैं। विभाग ने चार दिन पहले ही आदेश जारी किए हैं। भवन का नक्शा अनुमाेदन की प्रक्रिया सरल हुई है। 500 वर्ग मीटर के नक्शे आर्किटेक्ट के दस्तावेजाें पर ही अनुमाेदित किए जा सकेंगे। -नवनीत कुमार, राजस्व अधिकारी, नगर परिषद

खबरें और भी हैं...