पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • The Road Was Not Built In Dhani Since Independence, After Collecting 3 Lakhs, The Youth Made The Gravel Road In Three Days

समाधान:ढाणी में आजादी से बाद से नहीं बनी थी सड़क, 3 लाख एकत्र कर युवाओं ने तीन दिन में बना दी ग्रेवल रोड

सीकर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • ढाणी के लोगों ने सड़क चौड़ी करने के लिए खेतों से 5-7 फीट जमीन दी

देश आजाद होने से नीमकाथाना क्षेत्र के माउंडा खुर्द गांव के खरबासों की ढाणी में सड़क नहीं बनी। सांसदाें-विधायकाें ने हर बार समाधान के बजाय आश्वासन ही दिया। पिछले दिनों गांव में एक बुजुर्ग की मौत हो गई। कच्चे रास्ते पर बारिश का पानी भरा होने से अंतिम यात्रा के बजाय शव को ट्रैक्टर ट्रॉली में रखकर ले जाना पड़ा।

इसके बाद ढाणी के युवाओं ने तय किया कि वे समाधान के लिए सरकार के भरोसे नहीं रहेंगे। युवाओं ने हर घर से रुपए एकत्रित किए। युवाओं ने तीन लाख रुपए एकत्रित कर 3 किमी लंबी व 30 फीट चौड़ी ग्रेवल सड़क बना दी। गांव के 40 युवाओं ने स्वयं दिन रात ग्रेवल बिछाने, समतलीकरण व ट्रैक्टर चलाकर 3 दिन में ग्रेवल सड़कर बना दी।

ढाणीवासियों ने बताया कि खरबास ढाणी के 100 घरों में करीब 800 लोगों की आबादी हैं। गांव के लोग हर कार्य के लिए माउंडा खुर्द और नीमकाथाना जाने के लिए तीन किमी पगडंडीनुमा कच्ची रोड से जाना पड़ता था। अब ग्रेवल सड़क बनने पर विधायक सहित अन्य नेताओं ने डामरीकरण करने का आश्वासन दिया है।

ग्रामीणों ने सड़क के लिए जमीन भी दी : सड़क निर्माण में गांव के बुद्धराम खरवास, कमल खरवास, जगमेंद्र, जसवीर खरवास , डॉ. अंकित ,राजेंद्र प्रसाद, पूरन, गजेंद्र, महेश, विकास, नरेंद्र, नरेश, संजय, सुरेंद्र, रोहित व अन्य युवाओं ने काम किया। ढाणी व गांव के लोगों से अपने खेत से पांच से सात फीट तक रास्ता दिया ताकि सड़क की चौड़ाई बढ़ सके।

खबरें और भी हैं...