पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • The Squad, Which Arrived To Remove The Encroachment With Three Police Stations, RAAC Personnel, Had To Return Empty Handed After 5 Hours, Neither The Border Knowledge Nor The Stone Garri Done; Allegation Of Political Malice

3 थानों की पुलिस और RCA जवान अतिक्रमण हटवाने पहुंचे:500 लोगों से ज्यादा की भीड़ मौके पर जमा हुई, भीड़ के आगे कमजोर पड़ा जाब्ता; 5 घंटे बाद खाली हाथ लौटना पड़ा

सीकर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ग्रामीणों को समझाते पुलिसकर्मी। - Dainik Bhaskar
ग्रामीणों को समझाते पुलिसकर्मी।

श्रीमाधोपुर में बुधवार देर शाम हाईवोल्टेज ड्रामा हुआ। नगर पालिका प्रशासन तीन थानों की पुलिस जाब्ता और आरएसी जवानों को लेकर अतिक्रमण हटाने पहुंचा। जाब्ते को आया देखकर गांव के लोग मौके पर पहुंच गए। देखते ही देखते 500 से ज्यादा भीड़ जमा हो गई। वे नगर पालिका पर राजनीतिक आरोप लगाते हुए कार्रवाई करने की बात कह रहे थे। 60 के करीब पुलिस जाब्ता भीड़ के सामने कमजोर पड़ा। आखिरकार शाम को खाली हाथ लौटना पड़ा।

दरअसल मामला ढ़ाणी बाकली का है। कालूराम जाट के परिवार के कब्जे वाली जमीन पर कुछ दिनों पहले रिपेयर कराया था। नगर पालिका प्रशासन का कहना है कि पड़ोसी ने अतिक्रमण की शिकायत की है। उसके आधार पालिका प्रशासन तोड़ने के लिए भारी भरकम दस्ता लेकर पहुंचा, लेकिन ग्रामीणों की भीड़ हो जाने से खाली हाथ लौटना पड़ा।

अतिक्रमण हटाने पहुंचा पुलिस दस्ता
अतिक्रमण हटाने पहुंचा पुलिस दस्ता

कालूराम का कहना है कि 100 साल से हमारा कब्जा है। यदि जमीन सरकारी है तो रिकॉर्ड लाएं। जमा बंदी में बारानी टू में जमीन अंकित है। जबकि प्रशासन इसे गैर मुमकिन रास्ता बताकर कार्रवाई करने पर अड़ा है। कालूराम के परिवार का कहना है कि महज राजनीतिक कारणों के तहत कार्रवाई की जा रही है।

विरोध में जुटे ग्रामीण
विरोध में जुटे ग्रामीण

बैकडेट में नोटिस दिए गए थे, नोटिस का जवाब मिलने से पहले ही ईओ रजन जैन ने कह दिया था कि चाहे कुछ भी हो जाए, डंडा तो टूटेगा। इससे साफ पता चलता है कि दस्तावेजों या रिकॉर्ड की बजाय नगर पालिका ईओ राजनीतिक दबाव में कार्रवाई कर रहा है।

खबरें और भी हैं...