पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एग्जाम अलर्ट:कॉलेज की परीक्षाओं का सिस्टम कमेटी की रिपोर्ट से तय करेंगे; 7 दिन में रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी

सीकर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

प्रदेश के विश्वविद्यालयों व महाविद्यालयों में परीक्षा के आयोजन अथवा प्रमोशन की प्रक्रिया तय करने अथवा इसका फॉर्मूला तय करने के लिए उच्च शिक्षामंत्री भंवरसिंह भाटी के निर्देश पर गठित उच्च स्तरीय कमेटी अगले 7 दिनों में अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करेगी। इसके आधार पर इस कोविड काल में इस वर्ष की परीक्षाओं का सिस्टम व फॉर्मूला तय हो सकेगा। वर्तमान में पूरे प्रदेश के उच्च शिक्षा से जुड़े स्टूडेंट्स में परीक्षाओं के आयोजन को लेकर असमंजस है। कमेटी की बैठकों का दौर चल रहा है।

कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन की वजह से पिछले डेढ़ साल से विश्वविद्यालय व कॉलेजों के नियमित फिजिकल क्लासेज नहीं हो पाईं। ऐसी स्थिति में ऑनलाइन क्लासेज हुईं। करीब दो माह पूर्व राज्य की कुलपति को-ऑर्डिनेशन कमेटी की अनुशंसाओं के आधार पर पेपर पैटर्न में बदलाव किया गया तथा परीक्षा का समय भी 3 घंटे से घटाकर 2 घंटे व कोर्स को 60 प्रतिशत कर दिया गया। लेकिन, इसके बाद फिर संक्रमण फैला और लॉकडाउन की स्थितियां बन गईं।

कॉलेज व विश्वविद्यालय फिर से बंद कर दिए गए। ऐसे में परीक्षाओं के आयोजन को लेकर फिर से असमंजस की स्थिति पैदा हो गई। राज्य में कोविड की वजह से स्थितियां खराब हैं तथा संक्रमण के हालात को देखते हुए परीक्षाएं कराना आसान नहीं है। गौरतलब है कि कमेटी का गठन डॉ. भीमराव अंबेडकर लॉ यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. देव स्वरूप की अध्यक्षता में किया गया। इसमें प्रदेश के तीन अन्य विश्वविद्यालयों के कुलपति के अलावा कॉलेज शिक्षा आयुक्त और उच्च शिक्षा विभाग के संयुक्त सचिव सदस्य हैं।

खबरें और भी हैं...