• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • They Were Going To Kill A Betel Nut For Ten Lakhs, Faced The Police In The Middle Of The Way, Police Arrested 6 Accused, Treatment Of An Injured Crook Continues In The Hospital

ARG गैंग ने की पुलिस पर फायरिंग:हथियारों के साथ 6 बदमाशों को पकड़ा,ओम नमः शिवाय गैंग का फरार सरगना मनोज पांडु भी गिरफ्तार,हत्या की वारदात करने जा रहे थे सभी

सीकर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस गिरफ्त में आरोपी। - Dainik Bhaskar
पुलिस गिरफ्त में आरोपी।

सीकर जिले के श्रीमाधोपुर क्षेत्र के लिसाडिया गांव में कल देर रात पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ खुलासा किया गया है। बदमाश एआरजी गैंग से जुड़े हुए थे। गैंग के सरगना ने अणतपुरा गांव के भरत यादव की हत्या के लिए 10 लाख की सुपारी ली थी। पुलिस ने कल रात 6 बदमाशों को हिरासत में लिया था।

एसएचओ करण सिंह खंगरोत ने बताया कि क्षेत्र के अणतपुरा निवासी भरत यादव की हत्या के लिए राकेश यादव नाम के व्यक्ति ने कुछ बदमाशों को सुपारी दी थी। बदमाश बोलेरो गाड़ी और तीन बाइक पर सवार होकर हत्या की वारदात को अंजाम देने जा रहे थे। सूचना पर बुधवार रात पुलिस जाब्ते के साथ मौके पर पहुंची। इस दौरान लिसाडिया गांव में बदमाशों से आमना-सामना हुआ। पुलिस टीम को जान से मारने की नियत से फायरिंग करना शुरू कर दिया।

पिस्टल लेकर दो फरार
पुलिस ने बदमाशों की गाड़ी को घेरकर 7 बदमाशों प्रेम कुमार शर्मा (27) निवासी जयपुर,सीताराम मीणा (19) निवासी प्रतापगढ़ अलवर,श्याम खत्री ऊर्फ शिवा ( 27) निवासी केतलीपोल कोटा,अजय सिंह (34) निवासी सरुण्ड जिला जयपुर ग्रामीण,मनोज पांडु (22) निवासी प्रागपुरा और सोनू (24) निवासी सरुण्ड जिला जयपुर ग्रामीण को गिरफ्तार किया गया। उनके कब्जे से दो लोडेड देसी कट्टे व 18 कारतूस, दो मास्टर चाबी, तीन लोहे की रॉड ओर और बोलेरो गाड़ी जप्त की। बदमाशों के पास दो पिस्टल थी। जिसे राकेश यादव और मनीष मीणा लेकर मौके से फरार हो गए।

हत्या के लिए पांच बार की रैकी
एसएचओ ने बताया कि भरत यादव की हत्या की सुपारी राकेश यादव निवासी लिसाडिया ने करीब दस लाख में एआरजी गैंग के मुखिया अजय सिंह को दी थी। जिसने हत्या करने के लिए मध्य प्रदेश से डेढ़ लाख रुपए में दो पिस्टल व देशी कट्टे ऑल कारतूस मंगवाई। एसएचओ ने बताया कि अजय सिंह ने भरत यादव की हत्या के लिए ओम नमः शिवाय गैंग के मुख्य सरगना मनोज पांडू जो कि हत्या के मुकदमे में फरार चल रहा है को भी अपने गिरोह में शामिल किया। पूछताछ में अजय सिंह नाम के बदमाश ने बताया कि हत्या के लिए डेढ़ महीने में 5 बार रैकी की गई। एक बार वह गांव में भी रुका लेकिन हत्या करने का मौका नहीं मिला।

पकड़े गए आरोपियों के खिलाफ कई मामले दर्ज
एसएचओ करण सिंह खंगारोत ने बताया कि प्रेम कुमार पर जयपुर जिले में मुकदमा दर्ज है, फिलहाल वह 2012 में डकैती के मामले में जमानत पर बाहर था। सीताराम मीणा पर एक मुकदमा दर्ज है। श्याम खत्री पर आर्म्स एक्ट, लूट व स्मैक के कुल 14 मुकदमे दर्ज है। अजय सिंह जो कि एआरजी गैंग का मुखिया है। उस पर लूट, हत्या, हत्या का प्रयास मारपीट आदि के दो दर्जन मुकदमे दर्ज है। ओम नमः शिवाय गैंग के मनोज पांडु पर हत्या,आर्म्स एक्ट के जयपुर जिले के विभिन्न थानों में 13 मुकदमे दर्ज हैं। सोनू पर भी 6 मुकदमे दर्ज हैं।

कंटेंट : लक्की

खबरें और भी हैं...