पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

शुभ समाचार:इस सप्ताह पूरा होगा 8 लाख सैकंड डाेज का लक्ष्य, अव्वल हो जाएगा हमारा सीकर

सीकर6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जिले में 17.31 लाख काे अब तक लग चुकी है पहली डोज, छह लाख काे लग चुकी है कोविड टीके की दोनों खुराक। - Dainik Bhaskar
जिले में 17.31 लाख काे अब तक लग चुकी है पहली डोज, छह लाख काे लग चुकी है कोविड टीके की दोनों खुराक।

स्वास्थ्य विभाग ने इस सप्ताह जिले की आधी आबादी काे सैकंड डाेज लगाने का लक्ष्य तय किया है। विभाग ने इसके लिए स्पेशल प्लान भी बनाया है। इसमें टारगेट का 90 फीसदी लोगों को पहली डोज लगाने और सैकंड डाेज लगाने वाले लोगों की संख्या आठ लाख पहुंचाने का लक्ष्य है। इसके लिए वैक्सीन की 4 लाख डाेज की डिमांड भेजी गई है। इसके लिए विभाग डाटा खंगालने में जुटा है। यह काम एक-दाे दिन में पूरा कर लिया जाएगा। इसके बाद वैक्सीन उपलब्ध हाेने पर टीकाकरण शुरू कराया जाएगा।

वैक्सीनेशन अभियान में पहला डाेज लगाने के मामले में सीकर प्रदेश में अव्वल बना हुआ है। जिले में अब तक 17 लाख 31 हजार 900 लाभार्थियाें काे पहला टीका लगाया जा चुका है। यह टारगेट का 86.3 फीसदी है। सैकंड डाेज लगाने के मामले में सीकर को अव्वल बनाने के लिए प्लान तैयार किया गया है।

सीकर शहर में 43.39 फीसदी काे दूसरा टीका लगा

जिले में सैकंड डाेज लगाने के मामले में सीकर शहर अव्वल है। यहां टारगेट की 43.39 फीसदी आबादी कवर की जा चुकी है। शहर में टारगेट के मुकाबले 108.51 फीसदी लाेगाें काे पहला टीका लगाया जा चुका है। सैकंड डाेज के मामले में लक्ष्मणगढ़ ब्लाॅक 35.52 फीसदी के साथ दूसरे नंबर पर है। नीमकाथाना ब्लाॅक में 26.94 फीसदी लाेगाें काे दूसरा डाेज लगा है।

स्वास्थ्य विभाग ने स्वास्थ्य निदेशालय काे इसी सप्ताह 4 लाख डाेज देने की डिमांड भिजवाई है। जिले में 6 लाख लाेगाें काे सैकंड डाेज लगाई जा चुकी है। यह आंकड़ा इसी सप्ताह 8 लाख तक पहुंचाने का टारगेट रखा है। दूसरी डोज लगवाने में पिछड़े ब्लॉक पर ज्यादा फोकस रहेगा और वहां ज्यादा टीकाकरण सेंटर खाेले जाएंगे।

  • सीकर पहली डोज के मामले में प्रदेश में नंबर-1 है। दूसरा टीका लगाने के मामले में भी हम स्थिति सुधारने में जुटे हैं। 4 लाख डाेज मांगी है। उम्मीद है इसी सप्ताह हम 90% काे पहला डाेज लगवा चुके हाेंगे। इसके लिए विशेष तैयारियां की जा रही है। - डाॅ. निर्मलसिंह, आरसीएचओ
खबरें और भी हैं...