पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Those Who Bought Leased Land Were Arrested By The Police, The Accused Said That The Action Was Taken Under The Influence Of ADJ, The Plot Was Bought On The Basis Of The Lease Issued From The City Council

60 लाख की बेशकीमती जमीन का मामला:पट्टेवाली जमीन खरीदने वालों को पुलिस ने किया गिरफ्तार, आरोपी बोला- एडीजे के प्रभाव में हुई कार्रवाई, नगर परिषद से जारी पट्टे के आधार पर खरीदा था प्लॉट

सीकर23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गिरफ्तार चारों आरोपी। - Dainik Bhaskar
गिरफ्तार चारों आरोपी।

उद्योगनगर पुलिस ने फर्जी दस्तावेज के आधार पर जारी पट्टे के करीब 60 लाख की कीमत के बेशकीमती प्लॉट को खरीदने वाले चार लोगों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि जमीन किसी और की है जिसका गलत तरीके से दस्तावेज तैयार कर नगर परिषद से पट्टा हासिल कर लिया और अब उस पर कब्जा करने पहुंच गए। वहीं आरोपियों का कहना है कि नगर परिषद से जारी पट्टा देखने के बाद ही खरीद की है। यदि गलत है तो नगर परिषद इसके लिए जिम्मेदार है।

मामला सीकर के सूर्यानगर का है। यहां पर भोलाराम कुमावत ने मामला दर्ज कराया है कि उसके कब्जेशुदा जमीन को हड़पने के लिए कुछ लोगों ने मिलकर फर्जी दस्तावेजों के आधार पर पट्टा बनवा लिया और अब उस जमीन पर कब्जा करने आ गए है। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया। थानाधिकारी पवन कुमार चौबे ने बताया कि मामला दर्ज होने के बाद आरोपी फरार हो गए थे। अब उनको गिरफ्तार किया गया है।

पकड़े गए आरोपियों में सीकर के पालावास निवासी मुकेश सोनी, हाउसिंग बोर्ड निवासी कैलाश तिवाड़ी, अजीतगढ़ चूडी निवासी चिरंजीलाल नायक और शिवचंद नायक है। पुलिस का कहना है कि इसमें नगर परिषद के लोग भी शामिल है। जिसकी जांच के बाद गिरफ्तारी होगी।

ये था मामला
शिकायत करने वाले का कहना है कि 1986 में करीब तीन बीघा जमीन परिवार के शामिलात में खरीदी थी। इसमें कुछ अधिकतर जमीन खाली छोड़ रखी है और कुछ जमीन पर एक हिस्से में मकान बना रखा है। जिस पर उसके परिवार का कोई सदस्य रहता आ रहा है। 2019 में आरोपी मरे हुए मूल खातेदार के नाम से मरे हुए अन्य के नाम पर नोटेरी करवा दी। इसके बाद शिवचंद नायक के नाम पर बैकडेट में नोटेरी करवा ली।

शिवचंद नायक ने भतीजे चिंरजीलाल नायक के नाम पर रजिस्ट्री करवा दी। चिरंजीलाल ने 2019 में ही दस्तावेजों के आधार पर नगर परिषद का पट्टा बनवा लिया। इस पट्टे से चिरंजीलाल ने प्रॉपर्टी और ज्वैलरी का काम करने वाले मुकेश सोनी को जमीन बेच दी। मुकेश सोनी जब वहां पर कब्जा लेने गया तब जाकर मामला सामने आया। वहीं प्रॉपर्टी ​डीलर कैलाश तिवाड़ी भी इसमें शामिल बताया जा रहा है।

आरोपी का कहना एडीजे के दबाव में पुलिस कर रही कार्रवाई
वहीं आरोपी मुकेश सोनी का कहना है कि उसने नगर परिषद का पट्टा देखने और नगर परिषद से सत्यता की जांच करने के बाद ही खरीदने के लिए मंजूरी दी। इसके लिए उसने चिंरजी को सवा लाख रुपए पेशगी के तौर पर भी दिए। भोलाराम के परिवार में एक एडीजे है। जिसके दबाव में पट्टेशुदा जमीन को विवादों में ला रही है। यदि पट्टा गलत बनाया गया है तो नगर परिषद जिम्मेदार है। हमने क्या गलत किया है।

नगर परिषद में भी होगी गिरफ्तारी
थानाधिकारी पवन कुमार ने बताया कि सबकुछ 2019 में ही हो गया। इसमें नगर परिषद के पट्टा जारी करने वालेों की भी मिलीभगत है। पुलिस जांच के आधार पर उनसे पूछताछ भी करेगी और जरूरत पड़ने पर गिरफ्तारी भी करेगी।

खबरें और भी हैं...