पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पर्व:आज रक्षाबंधन पर आनंद याेग, भ्रदा के कारण सुबह 9:28 के बाद ही भाइयों को राखी बांध सकेंगी बहनें

सीकर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • रक्षाबंधन पर भाई के पास नहीं पहुंचने की स्थिति में श्रीगणेश व लड्‌डू गोपाल को बांध सकती हैं रक्षासूत्र

आज रक्षाबंधन है। कोरोना युग में आए रक्षाबंधन का तौर-तरीका बिल्कुल बदला हुआ है। साेमवार को सुबह भद्रा होने की वजह से राखी बांधने की शुरुआत 9:28 बजे से होगी। इसके बाद पूरे दिन आनंद योग में राखी बांधी जा सकेगी। कोरोना वायरस में आया रक्षाबंधन का पर्व बहनों के लिए एक सवाल लेकर आया है।

वह है-अगर वे रक्षाबंधन के दिन कोरोना काल की वजह से भाई के पास नहीं पहुंच पाई तो क्या करें? सवाल का जवाब देते हुए पं. अश्वनी कुमार कहते हैं-बहनें श्री गणेश जी और लड्‌डू गोपाल को रक्षा सूत्र बांध सकती है। बहनें भगवान को भाई स्वरूप मानते हुए इनकी पूजा-अर्चना कर सकती हैं। वे इन्हें रक्षासूत्र बांध सकती है। दूसरा ऑप्शन विशेषज्ञ बताते हैं कि जब भी भाई के पास जाने का मौका मिले, तब भी राखी बांधी जा सकती है। इसके बाद भाई दूज का पर्व आएगा, उस दिन भी राखी बाधी जा सकती है।

रक्षाबंधन की 5 मुख्य बातें
1. रक्षाबंधन पर श्रावण पूर्णिमा पर सोमवार और श्रवण नक्षत्र की युक्ति का योग बन रहा है। श्रवण नक्षत्र का प्रारंभ शुभ 7:19 से हो रहा है, जो अगले दिन 4 अगस्त को सुबह 8.10 समाप्त होगा।
2. श्रावण पूर्णिमा पर सोमवार और श्रवण नक्षत्र की युक्ति इससे पूर्व 7 अगस्त 2017 को बनी थी। श्रावण की पूर्णिमा पर सोमवार को श्रवण नक्षत्र का संयोग अब 2024 में बनेगा।
3. रक्षाबंधन पर भद्रा सुबह 9:28 बजे पर समाप्त हो रही है। इसके बाद शुभ मुहूर्त सुबह 9.30 से 10.30 तक, दोपहर 11.30 से 3 शाम काे 4 से 7:15 तक रहेगा।
4. श्रावणी उपाकर्म सहित सभी सप्त ऋषियों का पूजन, देव ऋषि पितृ तर्पण सहित देवताओं का पूजन रक्षाबंधन पर्व मनाना समृद्धि वैभव संपदा आरोग्यता प्रदान करने वाला रहेगा।
5. पं. अक्षय गाैतम ने बताया कि इस बार राखी पर सूर्य और शनि का सप्त सप्तम योग, बुध आदित्य योग सहित मकर राशि के चंद्रमा में होने से सभी मनोकामना की पूर्ति होगी।

कोविड सेंटर : पॉजिटिव मरीजों को सिस्टर ने बांधी राखी, स्वास्थ्य की रक्षा का संकल्प लिया

कोरोना संक्रमण के चलते इस बार कोविड सेंटर में भर्ती मरीजों को उनकी बहनें राखी नहीं बांध पाएंगी। किसी भाई की कलाई सूनी न रहे, यहीं सोचकर कोविड सेंटर में रविवार को सिस्टर यानी नर्स सुमित्रा ने पॉजिटिव मरीजों को राखी बांधी। उनके स्वास्थ्य की देखभाल का संकल्प लिया। उन्होंने कोरोना गाइडलाइन की पालना करते हुए पीपीई किट व ग्लव्ज पहनकर राखी बांधी।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय आर्थिक पक्ष पहले से अधिक सक्षम और सुदृढ़ स्थिति में रहेगा। कुछ समय से चल रही चिंताओं से राहत मिलेगी। परिवार के लोगों की हर छोटी-मोटी जरूरतें पूरी करने में आपको आनंद आएगा। अचानक ही किसी ...

और पढ़ें