1.2 करोड़ टन यूरेनियम मिला:सीकर से मिलेगा टॉप ग्रेड यूरेनियम, 40 साल खनन होगा, 1.5 किमी लंबी सुरंग बन रही

सीकर11 दिन पहलेलेखक: कुलदीप पारीक
  • कॉपी लिंक

सीकर से देश को टॉप ग्रेड का यूरेनियम मिलेगा। रॉयल गांव में झारखंड, आंध्र से अच्छी ग्रेड का यूरेनियम भंडार मिला है। यहां 1086.46 हेक्टेयर में 1.2 करोड़ टन यूरेनियम व अन्य एसोसिएटेड मिनरल्स हैं। यूरेनियम कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया 4 साल से प्रोजेक्ट पर काम कर रहा है।

खनन के लिए 30 मीटर पिट लाइन बन चुकी है। डेढ़ किमी लंबी टनल बनेगी। 60 से 700 मीटर गहराई तक यूरेनियम मिलेगा। खनन 40 साल चलेगा। ढाई-तीन साल में माइनिंग-प्रोसेसिंग शुरू होगी। 3 हजार करोड़ निवेश होंगे। प्रत्यक्ष 3 हजार, अप्रत्यक्ष 7 हजार को रोजगार मिलेगा।

अभी केवल झारखंड और आंध्रप्रदेश में चल रही हैं यूनिट

देश में मेघालय, छग, तेलंगाना में भी यूरेनियम, पर झारखंड, आंध्र में 8 माइंस, 3 प्रोसेसिंग यूनिट ही चल रही। दुनिया में ऑस्ट्रेलिया, कजाकिस्तान, कनाडा में सर्वाधिक। यह चट्टानों के बीच कॉपर व अन्य मिनरल्स संग रेशे के रूप में मिलता है। इन्हें बारीक कर पानी या तेजाब से प्रोसेस कर 90% यूरेनियम अलग किया जाएगा।

बड़ा प्रोजेक्ट, देश को लाभ
यह बड़ा प्रोजेक्ट है। इससे प्रदेश ही नहीं देशभर को फायदा होगा। - एमके संगई, जीएम, यूसीआईएल जादूगोड़ा (झारखंड)

50 हजार यूनिट बिजली संभव 1 किलो यूरेनियम से, कोयले से 3 यूनिट। दवा, मेडिकल इंडस्ट्री में भी उपयोग।