पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Troubled By The Fighting, The Documents Had Come From The Maiden Eight Days Before To Stand On Their Own Feet, Brothers Will Pick Up Today.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बेटी के साथ फंदे पर लटकी मिली महिला:मायके से 8 दिन पहले डॉक्यूमेंट्स लाई, ससुराल में करना चाहती थी नौकरी; पति समेत ससुराल वालों पर हत्या का केस

सीकर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विजयलक्ष्मी अपनी तीन माह की बेटी के साथ फंदे पर लटकी मिली थी। फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
विजयलक्ष्मी अपनी तीन माह की बेटी के साथ फंदे पर लटकी मिली थी। फाइल फोटो

सीकर में 3 महीने की बेटी के साथ फंदे से लटकी मिली महिला ससुराल वालों की प्रताड़ना से तंग आ चुकी थी। वह खुद अपने पैरों पर खड़ा होना चाहती थी। इसलिए, 8 दिन पहले जब वह मायके गई थी तब वहां से बीएड और पढ़ाई के अन्य सर्टिफकेट्स लेकर आई थी। इसका खुलासा मृतक महिला के विजय लक्ष्मी के पिता ठंडाराम ने किया है।

पिता ने पति, ससुर, देवर-देवरानी, ननद-ननदोई और देवरानी की मां के खिलाफ साजिश रचकर हत्या का मुकदमा भी दर्ज कराया है। बता दें कि बुधवार सुबह पिपराली रोड स्थित सूर्य नगर इलाके में महिला और उसकी तीन महीने की बेटी फंदे से लटकी लाश मिली थी।

वहीं, ससुराल वालों का कहना है कि उसने आत्महत्या की है। जबकि पिता का कहना है कि जो विजयलक्ष्मी 16 साल से प्रताड़ना सह रही थी। वह ऐसे सुसाइड नहीं कर सकती है। बल्कि अपने बच्चों का जीवन संवारने के लिए वह नौकरी करने की तैयारी कर रही थी।

मोर्चरी के बाहर बैठे मृतका के मायके वाले।
मोर्चरी के बाहर बैठे मृतका के मायके वाले।

पति ने कहा- रात को सुसाइड किया, सुबह पता चला मृतका के पति अनिल ने बताया कि मंगलवार रात करीब साढे़ सात बजे विजयलक्ष्मी खाना खाकर छत पर बने कमरे में तीन महीने की बेटी गुड़िया को लेकर सो गई थी। एक्सीडेंट होने के कारण मैं बीमार था और बगल के कमरे में सो रहा था। बुधवार सुबह 7 बजे पत्नी को आवाज लगाई। जवाब नहीं मिला तो उसके कमरे में गया। वहां देखा कि विजयलक्ष्मी पंखे से चुन्नी का फंदा लगाकर लटकी हुई है और पास की दीवार पर उसकी तीन महीने की बेटी खूंटी से लटक रही है। पिता की मदद से दोनों को नीचे उतारा और पुलिस को सूचना दी।

पहले भी कोर्ट से हुआ था समझौता मृतका के पिता ठंडाराम ने बताया कि दहेज को लेकर शुरू से ही ससुराल वाले परेशान करते थे। कई दफा दोनों को समझाने की कोशिश की। कोर्ट से भी समझौता हुआ। उसके बाद फिर से रहने आई थी। विजयलक्ष्मी का पति निजी स्कूल में पढ़ाता था। हाल ही में उसका एक्सीडेंट होने से वह घर पर ही रहता था। पिता ठंडाराम ने आरोप लगाया है कि ससुर शिवराज चरित्रहीन भी है। जिसको विजय लक्ष्मी ने गलत अवस्था में देख लिया था। इसलिए उसकी आवाज बंद करने के लिए हत्या की गई है।

बहन का शव देखकर बिलख पड़ा छोटा भाई।
बहन का शव देखकर बिलख पड़ा छोटा भाई।

थानाधिकारी पवन चौबे ने बताया कि घटनास्थल से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। मृतका के पिता ने पति अनिल, ससुर रिटायर कॉलेज प्रिंसिपल शिवपाल वर्मा, देवरानी सरिता, ननद राजश्री, ननदोई संजीव, और देवरानी सरिता की मां को आरोपी बनाया गया है। परिजनों की मांग पर मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवाकर शव परिजनों को सौंप दिया है।

एएसआई नरेशचंद्र ने बताया कि विजय लक्ष्मी का एक दो साल का लड़का भी है। लेकिन, विजय लक्ष्मी जब अपने पति अनिल के साथ पीहर से सीकर लौटी तो उसने अपने बडे़ बेटे को नाना के पास ही छोड़ दिया था। शुरुआती पूछताछ में सामने आया है कि अनिल शराब भी पीता था। इसी वजह से दोनों में झगड़ा होता रहता था।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें