डीपी चोरी और ठगी करने वाली गैंग का पर्दाफाश:रात को रैकी कर वारदात को देते अंजाम, अलग-अलग थानों में कई मामले दर्ज

सीकर4 महीने पहले

रानोली थाना पुलिस ने ट्रांसफार्मर चोरी और ठगी करने वाली अंतरजिला गैंग का पर्दाफाश करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। दोनों ही बदमाशों के ऊपर अलग अलग थानों में कई मामले दर्ज है। बदमाश पहले दिन में रैकी करते थे फिर रात को वारदात को अंजाम देते थे फिलहाल पुलिस दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

रानोली थानाधिकारी कैलाशचंद ने बताया कि क्षेत्र में लगातार डीपी चोरी की वारदातें बढ़ रही थी। लगातार मिल रही चोरी की शिकायतों के बाद पुलिस एक्शन मूड में नजर आई। पुलिस ने चोरों की गिरफ्तारी के लिए टीम बनाते हुए बदमाशों की तलाश शुरु कर दी है। उन्होने बताया कि पुलिस की स्पेशल टीम रात को 12 से 5 बजे तक सिविल गाडियों से गश्त करने में जुट गई। वहीं पुलिस को सूचना मिली की अपाची बाइकों के जरिए बदमाश वारदातों को अंजाम दे रहे है। जिसके बाद पुलिस ने आसपास के सीसीटीवी कैमरे खंगालते हुए बदमाशों की तलाश शुरु कर दी । मामले में पुलिस ने बनवारी लाल और सोनू को गिरफ्तार किया है। पुलिस पूछताछ में दोनों ने कई वारदातें करना कबूल किया। फिलहाल पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है।

दोनों ने 27 से ज्यादा वारदातों को दिया अंजाम
थानाधिकारी कैलाश चंद ने बताया कि दोनों बदमाशों ने पूछताछ में कबूल किया कि रानोली सहित जिले के विभिन्न थानों में 27 वारदातों को करना कबूल किया। इसके साथ ही ठगी की जोबनेर, जमवारामगढ़, नीमराणा, कोटपूतली में भी वारदातें करना बताया। इसके साथ ही रेलवे के विद्युत तारों की चोरी करने की बात भी कबूल की। वहीं पुलिस इनके और भी साथियों की तलाश कर रही है।

दिन में करते रैकी फिर देते चोरी को अंजाम
आरोपियों ने पुलिस पूछताछ में बताया कि आरोपी पहले दो या तीन बाइको से दिन में जहां डीपी लगी हुई है वहां की रैकी किया करते थे। इसके बाद रात को चोरी की वारदात को अंजाम देते थे। रात के समय आकर एक बाइक से ध्यान रखकर दूसरी बाइक से वारदात करते थे। एक ट्रांसफार्मर का माल निकालकर तीसरी गाड़ी के सुपुर्द कर दिया करते थे। फिलहाल पुलिस पूछताछ में और भी कई खुलासे होने की आशंका है।