मांगलिक कार्य:शुक्र का तारा 58 दिन रहेगा अस्त, नहीं हो सकेंगे मांगलिक कार्य

सीकर14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

इस बार धनतेरस, दीपावली, देव प्रबोधिनी एकादशी आदि के दौरान शुक्र का तारा अस्त रहेगा। ज्योतिष शास्त्र के मुताबिक इस दौरान सभी मांगलिक कार्य निषेध रहेंगे। मगर धन्वंतरि पूजन, लक्ष्मी पूजन, देव प्रबोधिनी पूजन किया जा सकेगा। पं. अश्वनी मिश्रा ने बताया कि इस बार 28 सितंबर को शुक्र का तारा पूर्व दिशा में अस्त होगा। यह 58 दिन तक अस्त रहेगा। 23 नवंबर को रात 9.20 बजे पश्चिम दिशा में तारा फिर से उदित होगा।

खबरें और भी हैं...