• Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Veterinary Doctors Assaulted Joint Director Of Animal Husbandry, Calling A Doctor For Office Work; The District President Of The Doctors Union Threatened

डॉक्टर्स यूनियन बनाम अधिकारी:पशुपालन के संयुक्त निदेशक के साथ वेटरनरी डॉक्टर्स ने की मारपीट, दफ्तर के काम के लिए बुला रहे थे एक डॉक्टर को; डॉक्टर्स यूनियन के जिलाध्यक्ष ने धमकाया

सीकर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
उद्योगनगर थाना। - Dainik Bhaskar
उद्योगनगर थाना।

पशुपालन विभाग में कुछ ठीक नहीं चल रहा है। आपसी तकरार के बाद मामला हाथापाई तक पहुंच गया। इतना ही नहीं बात थाने तक पहुंच गई। दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर मारपीट और जातिसूचक शब्दों के इस्तेमाल का मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने दोनों तरफ का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ महेश मीणा ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि सरकारी काम की मीटिंग के बाद धोद के नोडल पशुपालन अधिकारी के साथ बैठा बात कर बता कर रहा था कि डॉ दिनेश नेहरा पशुधन अधिकारी प्रभुदयाल आए। उनके साथ वेटरनरी सीकर डॉक्टर्स यूनियन अध्यक्ष विकास झांझड़िया भी साथ थे। कमरे में आते ही विकास झांझड़िया ने कहा कि क्यों बार-बार दिनेश नेहरा को बुलाकर परेशान कर रहे हो। मैंने बताया कि अधिकारी कुछ कागजात मांग रहे हैं जिसकी जानकारी डॉ नेहरा के पास है इसलिए बुलवाया है। इस पर विकास झांझडिया ने जॉइंट डाइरेक्टर मीणा की गिरेबान पकड़ ली और उनसे हाथापाई करना शुरू कर दिया। नजदीक बैठे धोद के नोडल अधिकारी ने बीच बचाव की कोशिश की तो अन्य डॉक्टर्स ने पकड़ लिया। इसके बाद गाली गलौज करते हुए निकल गए। मारपीट के दौरान उनके कपड़े फट गए।

वहीं दूसरे पक्ष की ओर प्रभुदयाल ने आरोप लगाया कि किसी काम से शाम को चार बजे जब संयुक्त निदेशक के केबिन में गया तो वहां पर उपनिदेशक डॉ सुमिता खीचड़ से हाथापाई कर रहे है। उन्हें रोकने की कोशिश की तो उन्होंने मुझे धमकाते हुए कमरे से बाहर निकलने के लिए कहा। शाम को डॉ मीणा ने बुलाया। काम निबटाकर गया तो देखा कि वहां पर कई लोग बैठे है। धोद के नोडल अधिकारी दीपक अग्रवाल, डॉ दिनेश नेहरा और विकास झांझडिया मौजूद थे। दीपक अग्रवाल ने देखते ही गाली देना शुरू कर दिया। यहां तक की डॉ मीणा ने जातिसूचक गालियां देकर सबक सिखाने की धमकी दी। इसके बाद मारपीट करने लगे। जब बचाव करने नेहरा और झाझडियां आए तो उन्हें भी मुकदमा में दर्ज कराने की धमकी देकर देख लेने की धमकी दी।

उद्योगनगर थानाधिकारी पवन कुमार चौबे ने बताया कि दोनों पक्षों की ओर से मारपीट की शिकायत दी गई है। दोनों पक्षों बयान लेने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...