पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Yeti Narasimhanand Saraswati's Poster Was Written And Abused In The Market, Posters Quietly Removed At The Notice Of Warming Atmosphere

माहौल ​बिगाड़ने की साजिश!:यति नरसिंहानंद सरस्वती के पोस्टर पर अपशब्द लिखकर बाजार में चिपकाए, माहौल गर्माने की सूचना पर पुलिस चुपचाप उतार ले गई

सीकर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पोस्टर जब्त कर ले जाती पुलिस। - Dainik Bhaskar
पोस्टर जब्त कर ले जाती पुलिस।

प्रशासन और जनता का ध्यान फिलहाल कोरोना से जंग की ओर है। उधर, देर रात कुछ असामाजिक तत्वों ने माहौल बिगाड़ने के लिए यति नरसिंहानंद सरस्वती के पोस्टर चिपका दिए। पोस्टर पर अपशब्द लिखा था। जब लोगों ने देखा तो आग की तरह सूचना फैलती गई। फोन पर लोग एक दूसरे से जानकारी लेने लगे। इसकी भनक कोतवाली थाना पुलिस को भी लगी तो आनन-फानन में इलाके में पहुंची और पोस्टर हटाकर चुप्पी साध ली।

मामला महामाया रोड़ का है। कल्याण मंदिर के नजदीक कुछ लोगों ने नरसिंहानंद सरस्वती के पोस्टर चिपका दिए। उस पर अपशब्द लिखा था। साथ ही मुंह पर कालिख भी पोत रखी थी। जब कुछ लड़के ऐसे पोस्टर बाजार में लगा रहे थे तो लोगों ने टोका। इसके बाद पोस्टर लगाने वाले लड़के बाइक पर बैठकर फरार हो गए।

पोस्टर लगे हुए देखकर बात आग की तरह फैलने लगी। जिसकी जानकारी किसी ने कोतवाली पुलिस को भी दे दी। पुलिस की गाड़ी आई और लगे हुए पोस्टर उतारे और जीप में रखकर ले गई। लेकिन इसकी जानकारी जुटाने में कई लोग लगे रहे। इस घटना के चंद घंटों पहले इस इलाके से कलेक्टर और एसपी ने पुलिस जवानों के साथ फ्लैग मार्च किया। मार्च कल से शुरू होने वाले कोविड की नई गाइडलाइन के लिए निकाला था, उस समय तक बाजार में पोस्टर नहीं लगे थे, लेकिन रात होते ही कुछ लोग पोस्टर लगाकर माहौल खराब करने चले थे।

लोगों का कहना है कि पुलिस कार्रवाई करने की बजाय मामले को दबाती है, जिसके कारण लोगो को भारी नुकसान चुकाना पड़ सकता है। जबकि समय पर ही उचित कार्रवाई कर दें तो विवाद ही समाप्त हो जाए। इस मामले में कोतवाल कन्हैयालाल का कहना है कि कुछ जानकारी मिली है पता करवा रहे है क्या सच्चाई है।

खबरें और भी हैं...