पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ऑक्सीजन की किल्लत:प्राइवेट अस्पतालों को नहीं मिल रहे ऑक्सीजन के सिलेंडर, मजबूरी में करना पड़ रहा है रेफर

पिलानी/झुंझुनूं15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना महामारी में कंधे से कंधा मिलाकर लड़ने को तैयार प्राइवेट अस्पताल को ऑक्सीजन सिलेंडर की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। कल्पवृक्ष मल्टीस्पेशियलिटी अस्पताल पिलानी को प्रशासन के आग्रह पर कोविड केयर सेंटर बनाया गया लेकिन कोविड के उपचार के लिए अस्पताल को ऑक्सीजन की किल्लत का सामना करना पड़ रहा है।

अस्पताल के डॉ. करण बेनीवाल ने बताया कि फिलहाल उनके अस्पताल में 9 कोरोना मरीजों का उपचार चल रहा है। गंभीर रोगियों को वेंटिलेटर पर लेना पड़ रहा है। एक सिलेंडर केवल ढाई घंटे तक ही चलता है। उन्हें केवल 4 सिलेंडर मिले हैं। जब सिलेंडर की मांग की तो उन्होंने सलाह दी गई कि रोगी को रेफर कर दो। डॉ. बेनीवाल का कहना है कि वेंटिलेटर पर चल रहे रोगी को रेफर करने में काफी रिस्क है और उन्होंने एक रोगी को झुंझुनूं रेफर किया भी लेकिन झुंझुनूं जाते हुए रास्ते में ही रोगी ने दम तोड़ दिया।

उपलब्ध वेंटिलेटर के अनुसार दें ऑक्सीजन सिलेंडर : डॉ. करण बेनीवाल का कहना है कि उनके अस्पताल में सभी आधुनिक सुविधाएं हैं लेकिन वेंटिलेटर पर लिए गए रोगी को ऑक्सीजन उपयुक्त समय तक मिलनी ही चाहिए और ऑक्सीजन के अभाव में उन्हें मजबूरन रोगी को झुंझुनूं रेफर करना पड़ रहा है। यदि प्रशासन ऑक्सीजन की पर्याप्त व्यवस्था करवा दें तो वह काफी हद तक कोरोना वायरस उपचार करने में सक्षम है।

उनका कहना है कि जिस प्रकार सरकारी अस्पतालों को ऑक्सीजन सिलेंडर दिए जा रहे हैं उसी प्रकार प्राइवेट अस्पतालों को भी आवश्यकता अनुसार सिलेंडर उपलब्ध करवानी चाहिए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें