पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कर हर पहाड़ फतेह:लाडूंदा का राहुल द. अफ्रीका की किलिमंंजाराे की 19300 फीट ऊंची चाेटी पर फहराएगा तिरंगा

पिलानी6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पिलानी. राहुल बैरागी। - Dainik Bhaskar
पिलानी. राहुल बैरागी।
  • बचपन से ही पर्वताराेही बनने की बेटे की चाह काे किसान पिता ने किया पूरा, अपनी पूरी बचत बेटे का सपना पूरा करने में लगाई, फरवरी में शुरू होगा मिशन
  • पहली बार काेई भारतीय बनाएगा ये अनूठा रिकाॅर्ड

जिले के लाडूंदा गांव का युवा राहुल दक्षिण अफ्रीका के तंजानिया की 19300 फीट ऊंची चाेटी किलिमंजाराे काे फतह करने के मिशन पर जा रहा है। इससे पहले वे थाजीवास और टेबल टाॅप ग्लेशियर काे फतह कर चुका है। लाडूंदा के राहुल बैरागी का इस अनूठे मिशन काे फतेह करने में चयन हुआ है। ये देश की पहली टीम है जाे इस चाेटी पर तिरंगा फहराने जा रही है।

राहुल बताते हैं कि बचपन से ही उनका सपना पर्वताराेही बनने का था। वे हमेशा से ही पहाड़ों पर चढ़ने के शौकीन रहे हैं। लेकिन परिवार की परिस्थितियाें ने उनके सपने में रूकावट बनने की काेशिश की। तब पिता ने पर्वतारोहण के उसके सपने को पूरा किया। किसान पिता ने अपनी पूरी बचत बेटे के सपने काे पूरा करने में लगा दी। उसे प्रशिक्षण के लिए जम्मू भेजा। काेर्स के दाैरान ही जम्मू कश्मीर के टेबल टॉप व थाजीवास ग्लेशियर पर सफलतापूर्वक चढ़ाई की। राहुल बताते हैं कि इन दाेनाें चाेटियाें की ऊंचाई 12700 फीट है।

नेपाल बार्डर के कामरू पर्वत की 19300 फीट ऊंचाई पहले ही पार कर चुके हैं। राहुल बैरागी ने जम्मू में प्रशिक्षण पूरा हाेने के बाद सिक्किम से विशेष प्रशिक्षण लिया। खुद काे सक्षम बनाने के लिए उन्होंने सिक्किम के हिमालय के पहाड़ों में ट्रैकिंग की। इसके बाद इनका चयन नेपाल बॉर्डर के कामरु पर्वत पर ट्रेकिंग करने वाली टीम के लिए हुअा। ताे इन्हाेने 19300 फीट ऊंचे पर्वत पर तिरंगा फहरा कर देश के लिए रिकार्ड बनाया।

डेथ जाेन काे फतेह करने का इरादा किया, ताे हाे गया चयन
कामरू पर्वत काे पार करने में सफलता मिलने के बाद राहुल ने अफ्रीका की सबसे बड़ी चाेटी किंजिमंजाराे काे फतेह करने का फैसला किया। जिसके लिए उनका चयन भी हाे गया। राहुल ने बताया कि दक्षिण अफ्रीका महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी किलिमंजारो पर चढ़ने के लिए चयन हाे गया है। ये 19300 फीट ऊंची है।

दक्षिण अफ्रीका के तंजानिया में स्थित किलिमंजारों की चढ़ाई को डेथ जोन कहा जाता है। क्योंकि इतनी ऊंचाई पर जाने के बाद शरीर में इतने बदलाव होते हैं जिसके कारण पर्वतारोही की मौत हो जाती है। सेहत के अलावा यहां आने वाले बर्फीले तूफान दूसरी बडी समस्या हैं। बर्फबारी और ठंडी हवाओं के बीच शिखर पर पहुंचना होता है।
अभियान के लिए सरकार से काेई मदद नहीं मिली
राहुल बताते हैं कि वे देश के लिए रिकार्ड बनाना चाहते हैं। लेकिन सरकार से उनकाे काेई मदद नहीं मिली है। वे वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाने तथा देश के लिए किलिमंजारो से स्कीइंग करते हुए नीचे आने का इतिहास बनाना चाहते हैं। सामान्य परिवार से हाेने के नाते सरकार से अभियान के लिए मदद मांगी थी। लेकिन उनकाे अब तक काेई मदद नहीं मिली है। अब राहुल ने हरियाणा में समाज के प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र कुमार बैरागी से मदद की गुहार लगाई है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का अधिकतर समय परिवार के साथ आराम तथा मनोरंजन में व्यतीत होगा और काफी समस्याएं हल होने से घर का माहौल पॉजिटिव रहेगा। व्यक्तिगत तथा व्यवसायिक संबंधी कुछ महत्वपूर्ण योजनाएं भी बनेगी। आर्थिक द...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser