पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बड़ी समस्या:परमाणाताल से गंदे पानी की निकासी का मामला विधानसभा तक गूंजा, फिर भी समाधान नहीं, आसपास के लोगों का जीना दूभर

रतनगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • परमाणाताल से रतनगढ़ के लोग 30 साल से परेशान जरा सी बारिश में सड़कों पर आ जाता है गंदा पानी

परमाणाताल में एकत्रित गंदा पानी कस्बे की एक लाख की जनता के लिए अब संकट बन चुका है। एकत्रित गंदे पानी की समस्या करीब 30 साल से झेली जा रही है। इस जगह अब मिट्‌टी का भराव होने के कारण दो साल में यह समस्या विकराल हाे चुकी है। समाधान के लिए नगरपालिका ने कई प्लान बनाए, कई दावे किए गए। सफल एक भी नहीं हो सका। समाधान के लिए खूब आंदोलनों के बाद विधानसभा तक में मामला गूंजा। जमीन पर मिट्‌टी के भराव के बाद हालात बेहद खराब हो चुके हैं। तीन महीने पहले पंप से पानी को मुख्य गैनाणी में निकालने का काम शुरू किया, लेकिन स्थिति नहीं सुधरी। अब मानसून आ रहा है। इसलिए बड़ा सवाल है कि बुधवार को 35 एमएम बारिश के बाद रास्ते बाधित हाे गए तो तेज बारिश में क्या हालात होंगे? सबसे ज्यादा परेशानी परमाणाताल क्षेत्र के लोग उठा रहे हैं।

हरिराम बाबा मंदिर व गायत्री शक्तिपीठ में घुस जाता है गंदा पानी, मुक्तिधाम सहित अन्य रास्ते बंद

हल्की बारिश के साथ ही यहां की सड़कों पर गंदा पानी फैल जाता है। हरिराम बाबा मंदिर व गायत्री शक्तिपीठ मंदिर में तो अंदर तक पानी चला जाता है। पूजा-अर्चना प्रभावित होती है, वहीं श्रद्धालु मंदिर नहीं पहुंच पाते। मुक्ति धाम का प्रवेश द्वार भी बाधित होने से शव यात्रा ले जाने में कड़ी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है। बारिश के दिनों में लोग शवयात्रा में शामिल तक होने से कतराते हैं। बरसात के दाैरान जाटा बस्ती व शास्त्रीनगर को सरदारशहर बाइपास सड़क जोड़ने से सड़क पर अावागमन बंद हाे जाता है। इसके अलावा चूरू जिला मुख्यालय को जोड़ने वाली सड़क भी इसके पास से गुजरती है। उस पर भी आवागमन बंद हो जाता है। दोनों सड़कों पर रोज करीब 1500 से ज्यादा वाहनों का आवागमन रहता है।

परमाणाताल से जब तक गंदे पानी की निकासी की स्थाई व्यवस्था नहीं होती है, तब तक नगर पालिका पंप लगाकर पानी की निकासी कर रही है। निचला भू-भाग होने की वजह से आस-पास के वार्डों का पानी उक्त स्थान पर एकत्रित होता है।-भगवानसिंह, ईओ, नगर पालिका

विरोध के कारण 81 लाख की योजना नहीं चढ़ी सिरे
परमाणाताल पर संपवैल बनाकर पानी को दूसरी जगह बूस्ट करना ही समस्या का समाधान है। इसको लेकर नगरपालिका ने 81 लाख रुपए की योजना बनाकर संपवैल का निर्माण यहां गत वर्ष शुरू किया। मोहल्ले के कुछ लोगों के विरोध के बाद प्लान फेल हो गया। बाद में निकासी के लिए प्रयास नहीं हुए।

0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव- धार्मिक संस्थाओं में सेवा संबंधी कार्यों में आपका महत्वपूर्ण योगदान रहेगा। कहीं से मन मुताबिक पेमेंट आने से राहत महसूस होगी। सामाजिक दायरा बढ़ेगा और कई प्रकार की गतिविधियों में आज व्यस्तता बनी...

और पढ़ें