लंपी संक्रमण की रोकथाम के लिए बनाया कंट्रोल रूम:युवाओं की टीम गायों का क्वॉरेंटाइन सेंटर और घर-घर जाकर कर रही इलाज

रींगस18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रींगस के कांग्रेस नेता एडवोकेट सुभाष मील खंडेला टीम ने विधान सभा क्षेत्र खंडेला में करीब एक दर्जन कंट्रोल रूम, क्वारैंटाइन सेंटर, दवा निर्माण केंद्र बनाकर 7 दिन में 1,000 से अधिक गायों का इलाज किया।

कंट्रोल रूम पर दो-दो गाड़िया लगाकर टीम के सैकड़ों कार्यकर्ता विधानसभा क्षेत्र के शहर, गांव व ढाणियों के घर पहुंचकर गायों काे दवा खिलाकर इलाज कर रहे है। कांग्रेस नेता सुभाष मील ने बताया कि लंपी वायरस से बीमार गायों की अकाल मौत हो रही है। आमजन की सुविधा के लिए लिए गुजरात व प्रदेशभर में संचालित बड़ी गोशाला संचालकों व पशु चिकित्सकों से बीमार गायों के इलाज के लिए सलाह ली गई। वहां से मिली जानकारी के आधार पर करीब दस दिन पहले दवाइयां बनाई गई। दवा बनाने के लिए करीब दो दर्जन कार्यकर्ताओं को लगाकर दवा बनाने का कार्य किया जा रहा है। दवाइयां बनने के बाद सात दिन में 1000 से अधिक गायों का इलाज किया गया। अधिकतर गाय में सुधार आया।

पांच मोबाइल टीम

बीमार गायों तक पहुंचने के लिए पांच मोबाइल टीम बनाई है। प्रत्येक मोबाइल टीम को दो वाहन दिए गए है। सूचना मिलने पर टीम कार्यकर्ता वाहन सहित बीमार गाय तक एक घंटे में पहुंचकर इलाज करते है। गाय अधिक बीमार होने पर बनाए गए क्वारैंटाइन सेंटर पर लाते है। राजकीय पशु चिकित्सक की सलाह पर इलाज प्रारंभ करवाते है। बीमार गायों को रखने के लिए रींगस, खंडेला व कांवट में क्वारैंटाइन सेंटर भी बनाए है।

आयुर्वेदिक दवा बनाकर पहुंचाते गायों तक

टीम ने गुजरात व प्रदेश में संचालित बड़ी गोशाला संचालकों के निर्देश पर आयुर्वेदिक जड़ी बुटियों से दवादयां बनाने का कार्य कर रही है। दवा बनाने का कार्य रींगस, खंडेला, सौंथलिया सहित अनेक स्थानों पर संचालित है। दवाइयों को तैयार करके कंट्रोल रूप व क्वारैंटाइन सेंटर पर भेजी जा रही है। सूचना मिलने पर बीमार गायाें तक दवा पहुंचाकर खिलाने का कार्य किया जा रहा है।

इन लोगों के नेतृत्व में टीम में कर रही है गौ सेवा
गायों की सेवा कार्य में झाबरमल रूलानिया, लोकेश शर्मा, मुकेश महरिया, अभिषेक सैनी, शीशराम घोसल्या, दुष्यंत कुमार, लालचंद गुर्जर, मनोज गुर्जर, सुरेश मीणा, ओमप्रकाश सोलेट, सतपाल चौहान, अशोक यादव, सुनील सैनी लोहरवाड़ा, राजू डबाश, भानू सामोता, धर्मेंद्र चोपड़ा, बलवीर मील, राजू ऐचरा, राजू मील बाउंसर, संदीप रूंडला, कालूराम चाहर व श्रवण रूंडला के नेतृत्व में गौ सेवा कर रहे हैं सैकड़ों कार्यकर्ता।

खबरें और भी हैं...