बातों में उलझाकर बदला ATM कार्ड:पैसे नहीं निकले तो बैंक में जाने पर ठगी का पता चला, खाते से निकले 1.90 लाख रुपए

रींगस2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रींगस नगर पालिका क्षेत्र की भारतीय स्टेट बैंक शाखा के बाहर लगे एटीएम मशीन पर एक युवक ने बातों में लगाकर एटीएम कार्ड बदल लिया। इसके बाद एक लाख 90 हजार रूपए निकाल लिए। ठगी का शिकार होने के बाद पीड़ित ने बुधवार की शाम को सीसीटीवी कैमरे के फुटेज लेकर पुलिस थाने पर पहुंचा और ठगी का मुकदमा दर्ज करवाया।

पुलिस ने बताया कि जोगेंद्र सिंह राठौड़ पुत्र रेवत सिंह राजपूत निवासी वार्ड नंबर 7 करीरी पुलिस थाना अमरसर जिला जयपुर ग्रामीण ने मुकदमा दर्ज करवाया कि 21 नवंबर को दोपहर 2 बजे एसबीआई के एटीएम से पैसे निकलवाने के लिए भाणजा गोविंद सिंह के साथ आया था। एटीएम मशीन से रुपए निकलवा रहा था, एटीएम मशीन में एटीएम कार्ड लगाकर 38 हजार निकाले। इस दौरान एटीएम मशीन में एक अज्ञात व्यक्ति आया। मेरे भाणजे गोविंद से कहा कि मैं आपके रुपए निकाल देता हूं। भाणजे ने अज्ञात व्यक्ति को रुपए निकालने के लिए एटीएम कार्ड दे दिया।

इसके बाद अज्ञात व्यक्ति ने एटीएम कार्ड बदलकर दूसरा एटीएम कार्ड कपिल देशवाल के नाम का देकर चला गया। कार्ड बदलने के बाद रुपए नहीं निकले। जिस पर हमने एसबीआई बैंक शाखा में पहुंचकर रुपए निकलवाने के लिए कहा तो कर्मचारियों ने बताया कि आपका अकाउंट जिस ब्रांच में है, वहां पर आपके रुपए निकलेगें। इसके बाद हम घर आ गए।

घर आने के बाद दूसरे दिन सुबह एसबीआई की शाखा अजीतगढ़ में गया तो वहां से जानकारी मिली कि आपके अकाउंट से 21 अक्टूबर को 75 हजार व 22 अक्टूबर को 5 बार में 10-10 हजार सहित कुल एक लाख 90 हजार रुपए निकाले गए। बैंक से रुपए निकालने का मोबाइल पर किसी प्रकार का मैसेज नहीं आने पर रुपए निकालने की जानकारी नहीं लग पाई। बैंक शाखा में पहुंचने पर ठगी की जानकारी मिली।

पुलिस ने पीड़ित की ओर से मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई प्रारंभ कर दी। पुलिस थाना प्रभारी हिम्मत सिंह ने बताया कि पीड़ित की ओर से दी गई रिपोर्ट को दर्ज करके कार्रवाई प्रारंभ कर दी। एटीएम व बैैंक शाखा के सीसीटीवी कैमरों से फुटेज लेकर आरोपियों की तलाश की जा रही है।

खबरें और भी हैं...