पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Sadulpur
  • The College Has Been Running In 5 Rooms Of The School For Five Years, The Building Work Was Completed In 2019, It Is Difficult To Complete This Year Also Due To Lack Of Budget

लेटलतीफी:पांच साल से स्कूल के 5 कमराें में चल रहा काॅलेज, 2019 में पूरा हाेना था भवन का काम, बजट के अभाव में इस साल भी पूरा हाेना मुश्किल

सादुलपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सादुलपुर में 2018 में शुरू हुआ था राजकीय कॉलेज के भवन का निर्माण कार्य, 6 माह से बंद है काम

राजकीय कॉलेज का निर्माण कार्य बजट के अभाव में बीच में अटका हुआ है। पिछले छह माह से निर्माण कार्य बंद पड़ा है, जिससे 2020 में इस कार्य के पूर्ण होने की संभावना कम नजर आ रही है। इसके चलते काॅलेज अभी भी सरकारी स्कूल के एक ब्लाॅक में चल रहा है। कॉलेज बिल्डिंग तैयार करने के लिए एक वर्ष की समयावधि थी एक वर्ष अतिरिक्त बीत जाने के बाद भी कार्य पूरा नहीं हुआ।

कार्य बीच में बंद होने का मुख्य कारण ठेकेदार को भुगतान नहीं होना सामने आ रहा है। 20 अगस्त 2018 को राजकीय कॉलेज के भवन का निर्माण कार्य शुरू किया था। 4.25 करोड़ रुपए का बजट था। अगस्त 2019 में कार्य पूरा होना था जो कि अब तक बजट के अभाव में बंद है। पीडब्ल्यूडी ने सरकार से 1.75 करोड़ की डिमांड कर रखी है। सरकार द्वारा बजट देने के बाद ठेकेदार को भुगतान हो सकेगा और काम फिर शुरू होगा। बिल्डिंग व प्लास्टर का कार्य लगभग पूरा हो चुका है। फर्श, गेट, कलर तथा बाहर के डवलपमेंट का कार्य बाकी है। निर्माण में लगी कंपनी के कमल कुमार ने बताया कि विभाग को 2.25 करोड़ रुपए का बिल बनाकर दे रखा है, भुगतान अभी तक नहीं हुआ है, जिस कारण कार्य बीच में बंद है। बार-बार अवगत करवाने के बावजूद भुगतान नहीं हो रहा है।

उच्च माध्यमिक स्कूल के पांच कमराें में पढ़ने को मजबूर हैं काॅलेज के 522 विद्यार्थी
काॅलेज की अपनी बिल्डिंग नहीं हाेने के चलते राजकीय उच्च माध्यमिक स्कूल परिसर में काॅलेज काे संचालित किया जा रहा है। स्कूल स्कूल के जिस ब्लाॅक में चल रहा है, उसमें महज छह कमरे ही हैं। एक कमरा प्रिसिंपल रूम है व पांच कमराें में काॅलेज के 522 विद्यार्थी पढ़ते हैं। ब्लाॅक में लैब नहीं हाेने के कारण लैब का सामान अलमारियाें में रखना पड़ता है। लाइब्रेरी नहीं हाेने की वजह से विद्यार्थियाें काे परेशानियाें का भी सामना करना पड़ता है।

^बजट के अभाव में राजकीय कॉलेज का काम बंद पड़ा है। सरकार से 1.75 करोड़ की डिमांड कर रखी है।-लिखमीचंद, एईएन पीडब्ल्यूडी
^काॅलेज के लिए स्कूल में पर्याप्त कमरे नहीं हाेने तथा भवन में हाे रही देरी से विद्यार्थियाें की पढ़ाई प्रभावित हाेती है। भवन निर्माण का कार्य जल्दी पूरा हाे तो विद्यार्थियाें काे राहत मिले। -जगबीरसिंह, प्राचार्य, राजकीय काॅलेज

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें