पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अंत्येष्टि:चूरू के पहले जिला प्रमुख व पांच बार विधायक रहे रावताराम आर्य पंच तत्व में विलीन हुए, पैतृक गांव सारसर में किया गया अंतिम संस्कार

सरदारशहर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सारसर में पूर्व विधायक आर्य के अंतिम दर्शन करते हुए नेता व ग्रामीण। - Dainik Bhaskar
सारसर में पूर्व विधायक आर्य के अंतिम दर्शन करते हुए नेता व ग्रामीण।
  • 96 वर्षीय आर्य पांच दिन से मामूली बीमार थे, अंतिम यात्रा में ग्रामीणों ने की नारेबाजी की
  • कई गांवों के लोग सांत्वना देने पहुंचे

चूरू जिले के प्रथम जिला प्रमुख व जिले के विभिन्न विधानसभा क्षेत्राें से पांच बार विधायक बनने वाले पूर्व विधायक रावतराम आर्य का बुधवार देर रात 10 बजे चूरू में उनके निजी आवास पर निधन हो गया। वे 96 साल के थे। आर्य पिछले पांच दिनों से हल्के बीमार थे। बुधवार पैतृक गांव सरदारशहर के सारसर में उनका अंतिम संस्कार हुआ। उनके अंतिम दर्शन के लिए बड़ी संख्या में लाेग उमड़े। अंतिम यात्रा में आर्य अमर रहे के नारे लगते रहे।

उनके पुत्र निवर्तमान जिला परिषद सदस्य मोहनलाल आर्य ने मुखाग्नि दी। इस दाैरान माहाैल गमगीन रहा। किसान नेता दयाराम बैदा ने बताया कि आर्य पांच बार विधायक व चूरू के प्रथम जिला प्रमुख बने थे। वे असाधारण व्यक्तित्व के धनी थे। उन्होंने बताया कि आर्य ने पहला चुनाव 1957 में मात्र दो हजार रुपए में लड़ा था और विधायक बने थे। इस खर्च में एक हजार रुपए उन्हें पार्टी फंड मिले थे। इसके बाद वे 1962 में कांग्रेस के टिकट पर सादुलपुर से विधायक बने।

आर्य ने अपना तीसरा चुनाव निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में 1967 में छापर से लड़ा और जीत दर्ज की। इसके बाद वे 1972 के चुनावाें में भी छापर से कांग्रेस के टिकट पर विजयी हुए। इसके वे 1977 में जनता पार्टी के टिकट पर सुजानगढ़ से विधायक बने।

सिद्धांताें की राजनीति करने वाले थे आर्य

आर्य के अंतिम सरकार में आमजन से लेकर जिले के बड़े नेता माैजूद रहे। इस दाैरान उपनेता प्रतिपक्ष ने राजेंद्र राठौड़ ने उनकाे श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि वे सिद्धांतों की राजनीति करने वाले नेता थे। उन्होंने अपना पूरा जीवन जनता काे समर्पित किया था। पूर्व विधायक अशोक पींचा, रतनगढ विधायक अभिनेष महर्षि ने भी उनकाे श्रद्धांजलि अर्पित की।

निवर्तमान जिला प्रमुख हरलाल सारण, भाजपा जिलाध्यक्ष पंकज गुप्ता, एडवोकेट शिवचंद साहू, निवर्तमान प्रधान सत्यनारायण सारण, पूर्व प्रधान संतोष तालणिया, आरएलपी नेता बलदेव सारण, गिरधारीलाल पारीक, एडवोकेट भगवती प्रसाद सांडेला, सरपंच गिरधारीलाल स्वामी, पालिका उपाध्यक्ष मुरलीधर सैनी, सांवताराम सारण, रामेश्वरलाल पूनिया सहित कई जनप्रतिनिधि माैजूद रहे।

प्रदेशाध्यक्ष पूनिया व संगठन महामंत्री चंद्र शेखर ने शोक जताया : भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया, संगठन महामंत्री चंद्रशेखर, सांसद राहुल कस्वां, पूर्व सांसद रामसिंह कस्वां आदि ने आर्य के पुत्र मोहनलाल आर्य को फोन कर शाेक प्रकट किया।

1957 में चूरू विधानसभा से कांग्रेस की टिकट पर पहला चुनाव लड़ा था

आर्य के पुत्र मोहनलाल आर्य ने बताया कि पिताजी ने प्रथम चुनाव 1957 में चूरू विधानसभा क्षेत्र से लड़ा था और विधायक बने थे। आपको बता दें कि उस समय चूरू विधानसभा से दो विधायक चुने जाते थे। एक सामान्य व दूसरी रिजर्व सीट थी। सादुुलपुर क्षेत्र भी उस समय चूरू विधानसभा क्षेत्र में आता था।

माेहनलाल आर्य ने बताया कि कांग्रेस के तत्कालीन प्रदेशाध्यक्ष जयनारायण व्यास ट्रेन से चूरू आए और उन्होंने पिताजी से पूछा था कि आपके पास चुनाव लड़ने के लिए पैसा है क्या? इस पर आर्य ने जवाब नहीं दिया ताे व्यास समझ गए कि उनके पास चुनाव लड़ने के लिए पैसे नहीं हैं। इसके बाद व्यास ने आर्य काे एक हजार रुपए पार्टी फंड से दिए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई लाभदायक यात्रा संपन्न हो सकती है। अत्यधिक व्यस्तता के कारण घर पर तो समय व्यतीत नहीं कर पाएंगे, परंतु अपने बहुत से महत्वपूर्ण काम निपटाने में सफल होंगे। कोई भूमि संबंधी लाभ भी होने के य...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser